जागरण संवाददाता, करनाल : अलग-अलग जगहों पर हुए सड़क हादसों में दो लोगों की मौत हो गई। एक हादसा तरावड़ी के पास नेशनल हाईवे पर हुआ, जहां नीलोखेड़ी वासी बलजीत सिंह बाइक पर सवार होकर तरावड़ी आ रहा था। उसी समय एक कैंटर ने उसे अपनी चपेट में ले लिया। गंभीर हालत में उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। वहीं दूसरा हादसा गांव नेवल के समीप हुआ, जहां कुंजपुरा वासी बाल गोपाल ने बताया कि उसका भाई करीब 50 वर्षीय हरिश चंद्र किसी काम से गांव नेवल गया था। वापस लौटने लगा तो किसी अज्ञात वाहन ने उसे अपनी चपेट में ले लिया। इस हादसे में उसकी मौत हो गई। पुलिस ने दोनों मृतकों के शव पोस्टमार्टम के बाद स्वजनों को सौंप दिए और वाहन चालकों के खिलाफ केस दर्ज कर लिए हैं। आर्वधन नहर में एक व्यक्ति का शव बरामद हुआ है, जिसकी शिनाख्त नहीं हो पाई। ब्याना पुलिस चौकी को सूचना मिली थी कि नहर में शव फंसा हुआ है। चौकी इंचार्ज बलराज सिंह टीम के साथ मौके पर पहुंचे और शव को निकलवाया, जिसकी पहचान नहीं हो पाई। शव को पहचान के लिए 72 घंटे तक कल्पना चावला राजकीय अस्पताल के मोर्चरी हाउस में रखवा दिया गया है।

आवर्धन नहर में कूदे युवक की दूसरे दिन भी खोजबीन में गोताखोरों ने करीब तीन घंटे तक नहर में सर्च अभियान चलाया, लेकिन युवक का सुराग नहीं लगा। वार्ड-9 निवासी राहुल शहर के एक निजी क्लीनिक पर काम करता था। घटना से दो दिन पहले वह कुरुक्षेत्र में अपनी बहन के पास गया हुआ था। शुक्रवार को युवक ने अपने एक दोस्त को फोन कर नहर के पास उसे लेने के लिए बुलाया था और युवक ने अपने दोस्त को देखकर नहर में छलांग लगा दी थी। दोस्त ने युवक को बचाने का प्रयास भी किया, लेकिन युवक पानी के तेज बहाव में बह गया। ब्याना चौकी इंचार्ज बलराज सिंह का कहना है कि गोताखोर नहर में युवक को खोजने में लगे हुए है। परंतु युवक का कोई पता नहीं लग पाया है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप