जागरण संवाददता, करनाल : सेक्टर नौ में गत 21 मई को व्यवसायी के घर में लूट के आरोपित समेत दो बदमाशों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने दोनों आरोपितों को सोनीपत के कुंडली बार्डर से पकड़ा। आरोपितों से एक किलो 185 ग्राम सोने के आभूषण, दो किलो चांदी के आभूषण, एक मोबाइल फोन और पांच लाख रुपये बरामद किए हैं। पूछताछ में बताया कि उनकी नजर गाजियाबाद के एक बड़े व्यापारी के घर पर भी थी, लेकिन वहां नौकरी नहीं मिली। दिल्ली में भी लूट की वारदात को अंजाम दिया था। शातिर बदमाश दिल्ली में एजेंसी के माध्यम से नौकर बन वारदात को अंजाम देते थे। एजेंसी को फर्जी आइडी देते थे।

सीआएए-1 की टीम ने गत 14 जून को बिहार के मधुबनी जिले के गांव गोदरी निवासी सुरेंद्र उर्फ पवन और इसी जिले के गांव बैलही निवासी रंजीत को गिरफ्तार किया है। पूछताछ में मुख्य आरोपित सुरेंद्र ने बताया कि दिल्ली की एक एजेंसी के माध्यम से फर्जी आइडी देकर करनाल सेक्टर-9 में व्यापारी के घर कुक की नौकरी मिली थी। करीब पांच दिन तक घर के सभी कमरों व अलमारियों की रेकी की। इसके बाद अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दिया। 15 जून को दोनों को अदालत से 18 जून तक रिमांड पर लिया गया है। रिमांड के दौरान आरोपित से आनंद विहार दिल्ली में किराये के मकान से लूटी गई राशि व जेवर बरामद किए गए।

छह लाख रुपये और 50 लाख के आभूषण कर चुकी है पुलिस बरामद

सेक्टर नौ में व्यापारी राहुल के घर में नौकर व अन्य तीन साथियों के साथ मिलकर लूट की वारदात सामने आई थी। सीआइए- वन पुलिस ने 3 जून को मंगलौरा चौकी के पास से दो आरोपितों को काबू कर लिया था। उसने पुलिस ने एक देसी पिस्तौल, तीन कारतूस व आइ-20 कार बरामद की थी। पुलिस पूछताछ में आरोपितों के नोएडा के सेक्टर 53 स्थित किराये के मकान से छह लाख रुपये नकद व 50 लाख के जेवर बरामद किए थे।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप