जागरण संवाददाता, करनाल : सेक्टर-9 स्थित कोठी नंबर 928 में 21 मई को लूट की वारदात को पुलिस ने सुलझाने का दावा किया है। दो आरोपितों को भी गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि मुख्य आरोपित नौकर सुरेंद्र मांझी और उसका एक साथी अभी फरार है। आरोपितों से 50 लाख के जेवरात, छह लाख रुपये और आइ-20 कार बरामद कर ली गई है।

एससपी सुरेंद्र सिंह भौरिया ने बताया कि आरोपितों से देसी पिस्तौल और तीन राउंड भी मिले हैं। जांच टीम ने लूट में शामिल श्रवण व प्रेमपाल को गिरफ्तार कर लिया गया है।

-------

नोएडा में बांटा लूट का माल

राहुल राव की पुत्रवधू ज्योति राव व नौकरानी को बंधक बनाकर लूटपाट की थी। इस वारदात में कोठी में चार दिन पहले काम करने का आए नौकर पवन और उसके साथियों को नामजद किया गया था। मुख्य आरोपी पवन उर्फ सुरेंद्र मांझी और उसके साथी रंजीत निवासी मधुबनी बिहार अभी फरार हैं। वारदात करने के बाद के बाद आरोपित नोएडा स्थित जीतराम कॉलोनी में किराये के घर में गए थे। वहीं पर चारों ने लूट के जेवरात व नकदी को बराबर बांट लिया था। पवन ने बनवाया था फर्जी आधार कार्ड

नौकर पवन ने जो आधार कार्ड दिया था, वह फर्जी था। पवन का असली नाम सुरेंद्र मांझी है। वह बिहार के जिला मधुबनी के गांव बैलही का रहने वाला है। सुरेंद्र पहले भी लूट और चोरी की वारदातों को अंजाम दे चुका है। इस बार उसने घरेलू नौकर बन कर मोटा हाथ मारने की साजिश रची थी।

------

प्लेसमेंट एजेंसी की चूक आई सामने

एसपी ने बताया कि मामले में प्लेसमेंट एजेंसी की चूक भी सामने आई। उन्होंने अपने स्तर पर पहचान किए बिना ही पवन को घरेलू नौकर लगवा दिया। एजेंसी अपने स्तर पर थोड़ा भी चौकस होती तो यह गड़बड़ी पहले ही स्तर पर पकड़ी जा सकती थी।

-------

तिहाड़ जेल में हुई थी मुलाकात

श्रवण, प्रेमपाल, रंजीत और सुरेंद्र की मुलाकात तिहाड़ में हुई थी। जेल में ही इन्होंने लूट की साजिश रच ली थी। बाहर आते ही सुरेंद्र ने पवन बन कर घरेलू नौकर के तौर पर करनाल में राहुल की कोठी में काम भी हासिल कर लिया। इसके चार दिन बाद ही वारदात कर डाली। एसपी ने बताया कि सुरेंद्र के खिलाफ दर्ज एफआइआर दिल्ली पुलिस को भेज दी गई है। उन्हें प्लेसमेंट एजेंसी के खिलाफ कार्रवाई की संस्तुति की है।

-------

एक और वारदात की कोशिश में थे

सीआइए वन इंस्पेक्टर दीपेंद्र राणा व एसआइ नरेश कुमार के नेतृत्व में गठित टीम ने दोनों बदमाशों को हरियाणा और उत्तर प्रदेश की सीमा पर मंगलौरा गांव के समीप गिरफ्तार किया। दोनों आरोपित फिर से वारदात करने जा रहे थे।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप