संवाद सूत्र, निगदू : थाने में ग्रामीणों पर लाठीचार्ज के बाद हुए पथराव के मामले में 12 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर किया गया है। पीड़ित पक्ष का आरोप है कि पहले पुलिस ने लाठीचार्ज किया था, लोगों ने अपने बचाव में पथराव किया था। पीड़ित पक्ष न्याय की मांग को लेकर भाजपा जिलाध्यक्ष जगमोहन आनंद से मिला। इसके बाद आनंद के साथ एसपी से मुलाकात करने उनके आवास पर गया। पीड़ितों ने कहा कि पुलिस ने उनके साथ नाइंसाफी की है। उनका साथ देने वाले डॉक्टर संदीप मलिक व पंच नरेश के साथ लाइन हाजिर एसएचओ जयभगवान ने अपने साथियों के साथ मारपीट की। एसपी ने उन्हें आश्वासन दिया कि मामले में उचित कार्रवाई की जाएगी। वहीं, जिलाध्यक्ष ने कहा कि यदि पुलिस ने पीड़ित पक्ष से न्याय नहीं किया तो मुख्यमंत्री से मुलाकात की जाएगी।

यह है मामला : 30 अगस्त को विवाहिता के साथ ससुराल पक्ष के लोगों से मारपीट करने से बिगड़ा था मामला

30 अगस्त को निगदू में मां के घर आई विवाहिता शमां के साथ टोहाना से आए ससुराल पक्ष ने मारपीट की थी। पीड़ित पक्ष ने मारपीट करने वालों पर कार्रवाई नहीं करने पर निगदू पुलिस थाने में हंगामा किया तो एसएचओ जयभगवान ने पीड़ित पक्ष के लोगों पर लाठीचार्ज करा दिया था। इसके बाद ग्रामीणों ने जाम लगा दिया था। मामले में एसएचओ को लाइन हाजिर कर दिया गया। लाइन हाजिर होने के बाद 31 अगस्त की सुबह चार बजे एसएचओ जयभगवान ने एएसआइ अभय राम सहित कई कर्मचारियों के साथ पीड़ित पक्ष की हिमायत लेने वाले डॉक्टर संदीप मलिक व पंच नरेश के घर जाकर पिटाई की। इसके बाद एसपी ने जयभगवान व अभय राम को सस्पेंड कर दिया था। जबकि होमगार्ड अंकित को बर्खास्त कर दिया गया था।

मारपीट करने आए अन्य पुलिस कर्मचारियों नहीं हुई कार्रवाई

31 अगस्त की सुबह मारपीट करने वाले पुलिस कर्मचारी सीसीटीवी कैमरे में भी कैद हुए हैं। बावजूद इसके अभी तक अन्य पुलिस कर्मचारियों पर कोई कार्रवाई नहीं हुई है।

वहीं एसएचओ संदीप कुमार को थाना बुटाना के साथ-साथ निगदू थाने का कार्यभार संभाला पड़ रहा है। थाने में वर्तमान समय में केवल एक एएसआइ व हामगार्ड ही तैनात है।

पथराव करने वालों के खिलाफ मामला दर्ज : एसएचओ

निगदू पुलिस थाने का अतिरिक्त कार्यभार संभाल रहे थाना बुटाना के एसएचओ संदीप कुमार ने कहा कि पथराव करने के मामले में करीब 12 लोगों पर मामला दर्ज किया गया है।

Edited By: Jagran