जागरण संवाददाता, करनाल : कोविड-19 महामारी का प्रकोप ऐसा चला कि दिल्ली की ओर जाने वाली ट्रेनों की संख्या सिमट कर रह गई हैं। महामारी से पहले करनाल रेलवे स्टेशन पर ठहराव कर दिल्ली की ओर जाने वाली ट्रेनों की संख्या 9 थी। लेकिन अब यह घटकर 3 तक रह गई है। गिनती की रेल ने यात्रियों को परेशानी में डाल दिया है। वह इसलिए क्योंकि करनाल से दिल्ली के लिए रोडवेज बसों का संचालन भी रुका हुआ है। कोविड के कारण दिल्ली सरकार ने बाहर से आने वाली बसों पर प्रतिबंध लगाया हुआ है, वहीं दूसरी ओर ट्रेनों की संख्या सीमित कर लोगों को ओर परेशानी में डाल दिया है।

इस समय क्या है ट्रेनों का स्टेटस रेलवे विभाग के मुताबिक अब रात में एक भी ट्रेन नहीं है। दिन में करीब आठ घंटे के अंतराल में एक पैसेंजर ट्रेन सहित कुल तीन रेलगाड़ियां चल रही हैं। जबकि शाम को सवा छह बजे के बाद अगले दिन सुबह 9.40 बजे तक कोई ट्रेन नहीं चल रही। जो ट्रेन उपलब्ध हैं, उनमें भी काफी पहले बुकिग करानी पड़ती है। यानि दिल्ली अब दूर हो गई।

पहले दिल्ली की ओर जाने वाली ट्रेनों का यह था स्टेटस कोविड-19 से पहले करनाल रेलवे स्टेशन पर ठहराव करते हुए शुक्रवार को कोटा एक्सप्रेस। पूरे सप्ताह भर सफदरजंग-हजूर साहिब नांदेड़ विशेष सुपरफास्ट चलती थी। बुधवार व शनिवार को आनंद विहार टर्मिनल स्पेशल। पूरे सप्ताह जनशताब्दी स्पेशल ट्रेन का आवागमन रहता था। यह ट्रेन अब भी संचालित हो रही है। जिसका सुबह 9 बजकर 42 मिनट समय निश्चित है। इसी प्रकार पूरे सप्ताह पश्चिमी एक्सप्रेस। गीता जयंती, कोविड-19 विशेष। सरयू यमुना एक्सप्रेस व शहीद एक्सप्रेस ट्रेनों का निरंतर संचालन होता था।

इस प्रकार झेलनी पड़ रही है परेशानी यात्री सतबीर, अंशुल, सुरभि व यशपाल ने बताया कि बस से यदि दिल्ली जाते हैं तो उन्हें बार्डर पर ही उतार दिया जाता है, क्योंकि बसों को कोविड की वजह से अंदर आने की अनुमति प्रदान नहीं की गई है। बार्डर से आटो या फिर कोई वाहन हायर कर अपने गंतव्य तक जाना पड़ता है। ट्रेनों की संख्या घटा दी गई है। इस कारण से परेशानी ओर बढ़ गई है। दिल्ली से सटे होने के बावजूद भी हमें दिल्ली दूर दिखाई देने लगी है।

Edited By: Jagran