जागरण संवाददाता, करनाल : त्योहारी सीजन के बाद शहर के मुख्य चौकों पर ट्रैफिक पुलिस नदारद दिखी। इस वजह से सड़कों पर जाम में वाहन रेंगते नजर आए। सुबह 11:55 बजे सिटी बस स्टैंड मुख्य गेट और पीछे वाले गेट पर पुलिस कर्मचारी न होने के कारण जाम लगा रहा। दो दिन पहले नेहरू पैलेस में आग लगने के बावजूद शहर की ट्रैफिक पुलिस गंभीर नहीं हुई है। कुंजपुरा रोड पर बृहस्पतिवार को भी जाम आम दिखाई दिया और मुख्य डाकघर के पास वाहनों का निकलना मुश्किल हो रहा था। इस तरह कर्ण गेट पर भी बाइक सवारों को आने-जाने में परेशानी का सामना करना पड़ा। रेलवे रोड और कुंजपुरा रोड पर बेतरतीब वाहनों को सड़क के बीचों बीच खड़ा करने से जाम को बढ़ावा दिया जा रहा था। खास बात यह रही कि नेहरू पैलेस स्थित आर्ट गैलरी में आग लगने के बावजूद ट्रैफिक पुलिस सबक नहीं ले सकी है। शहर की व्यवस्था 9 पुलिस कर्मचारी और 85 होमगार्ड के हवाले सौंपी गई है। कर्ण गेट से आंबेडकर चौक तक जाम

गांधी नगर निवासी विकास कुमार ने बताया कि त्योहारी सीजन में सड़कों पर जाम आम था, लेकिन अब सड़कों को आराम मिला है। साथ ही ट्रैफिक पुलिस भी गंभीर न होने के कारण सड़कों पर वाहन चालकों को जाम से परेशान होना पड़ रहा है। कर्ण गेट से अंबेडकर चौक तक पहुंचने में वाहनों की भीड़ के कारण काफी समय बर्बाद होता है, जबकि पुलिस को यातायात सुचारू कराने के लिए कर्मचारियों की संख्या बढ़ानी होगी। जाम से वाहन निकालना भी मुश्किल

चंडीगढ़ में पढ़ने वाले दीपक कुमार ने बताया कि ट्रैफिक नियमों के लिए चंडीगढ़ प्रशासन की तारीफ करनी होगी। करनाल में वाहनों की संख्या बढ़ने के कारण जाम भी बढ़ रहा है, लेकिन इसे दुरुस्त नहीं किया जा रहा है। शुक्रवार को कुंजपुरा रोड पर जरूरी काम से बाइक पर गया तो 10 मिनट के काम को एक घंटा लग गया क्योंकि सड़क पर जाम के कारण वाहन निकालने में मुश्किल आ रही थी। ट्रैफिक पुलिस के सड़कों पर नजर न आने के कारण लोग इधर-उधर से वाहन निकाल रहे थे। लोगों को खुद समझने होंगे नियम

सेक्टर-16 निवासी हरीश कुमार ने बताया कि सड़कों पर वाहनों की संख्या बढ़ रही है और ट्रैफिक पुलिस के हाथ व्यवस्था नहीं संभल रही है। सड़कों पर वाहन पार्क करने के कारण सड़कें छोटी पड़ रही हैं और वाहन चालकों को निकलने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। लोगों को खुद जागरूक होना होगा और वाहनों को सही से पार्क करना होगा। रेलवे रोड पर दोपहर 1:20 बजे खरीदारी करने पहुंचे हरीश कुमार बताते हैं कि सेक्टर-16 से कर्ण गेट में कार ले जाना मुसीबत में डालने जैसा है। अगर हांसी रोड से भी निकलते हैं तो यहां भी पुलिस चौक के एक तरफ कुर्सियों पर बैठकर जाम में फंसे वाहनों को देखने में लगी रहती है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस