जागरण संवाददाता, करनाल : प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के सेक्टर सात स्थित सेवा केंद्र की ओर से रहे थ्री-डी हेल्थ केयर शिविर लगाया गया। इसकी अध्यक्षता कल्पना चावला कॉलेज के निदेशक डॉ. जेसी दुरेजा ने की। मुख्य अतिथि घरौंडा विधायक हरविद्र कल्याण रहे।

माउंट आबू से आए मुख्य वक्ता डॉ. सतीश गुप्ता ने कहा कि दिल की ब्लॉकेज मन से होती है। व्यवहार, आहार व विहार तीनों ठीक कर लें तो बीमारी होगी ही नहीं। दिल का पंप 24 घंटे कार्यरत रहता है। हमारी किडनी एक घंटे में एक बार खून साफ करती है। हमारे विचारों का प्रभाव हमारे दिल पर पड़ता है। हमारे शरीर में 80,000 अरब कोशिकाएं हैं। प्रत्येक कोशिका अपने आप में पूर्ण शरीर है। हर एक कोशिका में 1,00,000 बैक्टीरिया होते हैं जो बनते टूटते रहते हैं। इनका कचरा किडनी द्वारा बाहर किया जाता है। नकारात्मक विचारों, चिता, टेंशन व क्रोध आदि से इन बैक्टीरिया की मात्रा 1,60,000 तक हो जाती है, जिससे किडनी, दिल व लीवर आदि को अधिक कार्य करना पड़ता है और दिल में ब्लॉकेज बीपी शुगर आदि बीमारियां जन्म लेती हैं।

विधायक हरविदर कल्याण, डॉ. बलबीर सिंह विर्क, डॉ. जेसी दुरेजा व तरुण भाटिया ने सतीश गुप्ता के विचारों से सहमति जताई। डॉ. बलबीर सिंह विर्क ने कहा कि सोच अच्छी होगी तो सब कुछ अच्छा होगा। मंच संचालन प्रेम दीदी ने किया। इस अवसर पर डॉ. जीएस शर्मा, सतीश ढींगड़ा, सुखबीर संधू, डीएस भारती, महिद्र मान, ललित सरदाना, अनिरुद्ध कालरा, हरिकृष्ण नारंग, विनोद कालरा, डॉ. राहुल गुप्ता, बीके बाला गुप्ता, बीके प्रेम, बीके शिखा, शिविका, आरती, दीक्षा, काजल, संजना, छवि, सुनीता मदान, विमल मेहता, डा. केके चावला व सरोज चावला मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस