संवाद सहयोगी, असंध : खाद्य आपूर्ति विभाग के अधिकारियों की लापरवाही के कारण गोदामों में अनाज खराब होने के कगार पर है। पिछले कई दिन से लगातार हो रही बरसात के चलते विभाग द्वारा अनाज को भीगने से बचाने के लिए पुख्ता इंतजाम नहीं किए गए। नतीजतन, स्टाक में रखे गेहूं से बदबू आने लगी है।

शहर की अनाज मंडी में बने गोदामों में लगा प्लाथ में गेहूं काफी लंबे समय से टूटी छत के कारण भीग रहा है। हालांकि विभाग के कर्मचारियों के द्वारा खानापूर्ति के लिए अनाज के कट्टों पर तिरपाल तो लगाई गई, लेकिन अनाज भीगने से नहीं बचा सके, जिससे हजारों कट्टे गेहूं खराब हो रहा है। पहले भी खुले में भीगता रहा गेहूं

इससे पहले भी बरसात में खुले आसमान के नीचे गेहूं भीगता रहा और विभाग के कर्मचारियों के द्वारा गेहूं को कुछ ही दिन बाद उठवा दिया गया लेकिन किसी भी अधिकारी ने जांच करने की नहीं सोची। डीएफएससी विभाग द्वारा एएफएसओ निर्दोष डांगी को जुंडला, असंध व आसपास के एरिया में खराब गेहूं की जांच करने का जिम्मा दिया गया है। इस प्रक्रिया में अहम पहलू है कि जिस अधिकारी को जांच की जिम्मेदारी दी गई है उसी अधिकारी द्वारा गोदाम में गेहूं रखवाया गया है। अन्य अधिकारी से कराएं जांच: विधायक

कांग्रेस विधायक शमशेर सिंह गोगी ने बताया कि विभाग की लापरवाही के चलते सरकार को लाखों रुपये का नुकसान हो रहा है। लेकिन विभाग ने जो अधिकारी नियुक्त किए हुए हैं वे जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ रहे हैं। वहीं, इंस्पेक्टर योगेश कुंडू ने बताया कि अनाज मंडी में बने गोदाम में पिछले दिनों आंधी-तूफान के कारण छत टूट गई थी। इसके लिए मार्केट कमेटी में लिखकर दिया गया है। उसे ठीक करवा दिया जाएगा। मार्केट कमेटी सचिव ओमप्रकाश ने बताया कि अभी कुछ दिन पहले उनको शिकायत मिली थी। उच्चाधिकारियों के आदेश पर कार्रवाई की जाएगी।

Edited By: Jagran