जागरण संवाददाता, करनाल: सेक्टर-14 स्थित श्री कृष्णा मंदिर में चल रही योग कक्षा में साधक स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं। योग शिक्षक दिनेश गुलाटी, नवीन संदूजा व नवीन जिदल ने सूक्ष्म व्यायाम व सूर्य नमस्कार का अभ्यास करवाया। उन्होंने कहा कि श्वांस का नियंत्रण ही प्राणायाम है। योग आसन और प्राणायाम का संयोग शरीर और मन के लिए शुद्धि और आत्म अनुशासन का उच्चतम रूप माना गया है। प्राणायाम तकनीक हमें ध्यान का एक गहरा अनुभव प्राप्त करने के लिए भी तैयार करती है।

दिनेश गुलाटी ने कहा कि मंडूक आसन डायबिटीज को कंट्रोल करने में मदद करता है। नियमित रूप से योग व प्राणायाम करने से शरीर में इंसूलीन की मात्रा बढ़ती है। इस अवसर पर नरेश चौधरी, डा. राजीव बैजल, वेदप्रकाश खन्ना, पवन गुप्ता, धर्मपाल पांचाल, रामलाल गोयल, नीलम बठला, स्वदेश मदान, निधि गुप्ता, बरखा जिदल, वीना गोयल, डा. आरती बैजल, इशा धवन, पुष्पा शर्मा, किरण सचदेवा व सरिता गर्ग मौजूद रहे।

Posted By: Jagran