संवाद सूत्र, निसिग : गांव सिघडा में सड़क काटकर कुछ लोगों ने खेतों से बारिश के पानी की शीघ्र निकासी का प्रयास किया। सड़क पर पहले से ही किसान ने न्यायिक आदेश ले रखा था। एक पक्ष से सूचना मिलते ही एसएचओ निसिग ऋषिपाल, नायब तहसीलदार रामकुमार व रिजर्व पुलिस की गाड़ी मौके पर पहुंची। उन्होंने दोनों पक्षों की बातें सुनीं।

पुलिस के समक्ष एक पक्ष के अमीर सिंह मल्ली ने दावा किया कि सड़क के दोनों तरफ उनकी जमीन है। सड़क से पानी की निकासी के लिए पुलिया बनी है, जिससे लगातार निकासी हो रही है। पीछे से खेतों के रास्ते अधिक पानी आ रहा है। यदि सड़क तोड़कर निकासी करेंगे तो उसकी धान की फसल पानी के तेज बहाव के कारण खराब हो जाएगी। वहीं नाला एक साथ अधिक पानी की निकासी करने में सक्षम नहीं है। इससे आसपास के किसानों के धान के खेतों में अधिक जलभराव से फसल खत्म हो जाएगा। इसी बात को लेकर उन्होंने सड़क तोड़ने पर बीते दिनों न्यायिक आदेश लिया था, जिसकी अवधि दो अगस्त तक की है।

वहीं दूसरे पक्ष के कुलबीर सिंह, सुखविद्र सिंह, रविद्र सिंह, गुरपेज सिंह, सोनू, साहब सिंह, हरदीप सिंह का कहना था कि बारिश के पानी से दौ सौ से अधिक एकड़ खेत जलमग्र है। इससे फसल बचने की कोई गुजाइंश नहीं है। खेत ओवरफ्लो होकर बारिश का पानी उनके घरों में घुस रहा है। पुलिस ने दोनों पक्षों को समझाया। वहीं सड़क काटने पर कानूनी कार्यवाही की चेतावनी दी। हालांकि निकासी को लेकर प्रशासन ने इंजन व मोनो ब्लाक पंप मंगवाए लेकिन उन्हें लगवाने से मना कर दिया गया। थाना प्रभारी व रिजर्व पुलिस देर शाम तक मौके पर रहे। किसान अंग्रेज सिंह व जसपाल सिंह ने सड़क काटने को लेकर नौ लोगों के खिलाफ पुलिस को शिकायत दी है।

Edited By: Jagran