जागरण संवाददाता, करनाल : उच्चतर शिक्षा विभाग की ओर से पीजी कक्षाओं में खाली सीटों पर दाखिले के लिए ओपन काउंसिलिग शुरू कर दी गई है। 28 दिसंबर से शुरू हुई काउसिलिग पांच जनवरी तक चलेगी। इस दौरान ऑनलाइन मैरिट के आधार पर रह चुके विद्यार्थियों को कालेज स्तर पर दाखिला मिल सकेगा। उपस्थित विद्यार्थियों का मैरिट के आधार पर दाखिला किया जाएगा।

चयनित विद्यार्थी की जानकारी ऑनलाइन पोर्टल पर अपलोड करनी होगी। उच्चतर शिक्षा विभाग की ओर से पत्र जारी कर जानकारी दी गई है कि नए छात्र-छात्राएं अपना पंजीकरण करवा इस ओपन काउंसिलिग में शामिल हो सकते हैं। रिक्त सीटों पर पहले आओ पहले पाओ के आधार पर दाखिला दिया जाएगा। पीजी में नए सिरे से पंजीकरण के लिए 24 दिसंबर से पोर्टल खुल हुआ है। एक जनवरी से कॉलेजों में पीजी प्रथम वर्ष की कक्षाएं शुरू हो जाएंगी। प्रथम कटऑफ के बाद कॉलेजों में रिक्त सीटों को विभाग ने फिजिकल काउंसिलिग के माध्यम से सोमवार से पांच जनवरी तक भरने को लेकर पत्र जारी किया था। जिन छात्र-छात्राओं ने पीजी के लिए आवेदन किया था और अब तक उन्हें प्रथम कटऑफ में दाखिला नहीं मिला है वे सभी इस ओपन काउंसिलिग में शामिल होकर दाखिला ले सकते हैं। एडेड व सेल्फ फाइनेंस कॉलेजों में दाखिला देने वाले छात्र- छात्राएं फीस का भुगतान ऑनलाइन के साथ-साथ ऑफलाइन भी करवा सकते हैं। सरकारी कॉलेजों में शुल्क का भुगतान केवल ऑनलाइन ही करना होगा। कोविड-19 महामारी के कारण कोई विलंब शुल्क नहीं लिया जाएगा। ओपन काउंसिलिग में कॉलेज यह सुनिश्चित करेंगे कि सीटें मानदंडों अनुसार ही आरक्षण नीति के तहत भरी जाएं। रद्द किए गए प्रवेश पर छात्रों को समय पर शुल्क वापस किया जाएगा। दयाल सिंह कालेज के प्राचार्य डा. चंद्रशेखर भारद्वाज ने बताया कि पीजी कक्षाओं में दाखिलों के लिए 24 दिसंबर से कालेज स्तर पर प्रक्रिया शुरू की गई है। वेटिग सूची विभाग की साइट पर उपलब्ध है। पीजी कक्षाओं में दाखिले के इच्छुक विद्यार्थी पांच जनवरी तक कालेज में उपस्थित होकर आवेदन देकर ओपन काउंसिलिग में शामिल हो सकते हैं। प्रतिदिन मैरिट सूची बनाकर नियमानुसार ही दाखिले किए जाएंगे।

Edited By: Jagran