जागरण संवाददाता, करनाल :

डीसी निशांत कुमार यादव ने बताया कि सावन महीने में शिव भक्तों की श्रद्धा को देखते हुए जिला प्रशासन द्वारा जिला मुख्यालय पर पंचायत भवन प्रांगण में गंगाजल का विशेष प्रबंध किया गया है। गंगाजल वितरण के लिए वीरवार तक 175 श्रद्धालुओं ने रजिस्ट्रेशन किया। रजिस्ट्रेशन के बाद 200 एमएल श्रद्धालुओं को उनके बर्तनों में ही दिया जा रहा है।

गंगाजल वितरण के नोडल व जिला बाल कल्याण अधिकारी विश्वास मलिक ने बताया कि पंचायत भवन में सुबह नौ से शाम पांच बजे तक शिव भक्तों व श्रद्धालुओं को रजिस्ट्रेशन करवाकर गंगाजल वितरित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि गंगाजल प्राप्त करने में किसी को कोई मनाही नहीं है, कोई भी व्यक्ति अपना रजिस्ट्रेशन करवाकर मौके पर ही निशुल्क गंगाजल प्राप्त कर सकता है। उन्होंने बताया कि इस बार कोरोना महामारी के कारण श्रद्धालु हरिद्वार नहीं जा सकते थे, क्योंकि हरिद्वार पहुंचकर कांवड़ व गंगाजल लाने पर प्रतिबंध है। इसके लिए डीसी निशांत कुमार यादव ने प्रयास करके हरिद्वार से करनाल के श्रद्धालुओं के लिए गंगाजल का विशेष प्रबंध करवाया है। सभी श्रद्धालु छह अगस्त तक की अवधि में हर रोज सुबह नौ से शाम पांच के बीच में पंचायत भवन से गंगाजल ले सकते हैं।

उन्होंने श्रद्धालुओं से अपील की कि शिव भक्त हर रोज सुबह नौ बजे से शाम पांच बजे के बीच पवित्र गंगाजल पंचायत भवन नजदीक एनडीआरआइ चौक करनाल से प्राप्त करें। गंगाजल वितरण में जिला बाल कल्याण परिषद्, करनाल व चाइल्ड लाइन 1098, बाल भवन के कर्मचारी जिला प्रशासन का विशेष सहयोग कर रहे हैं। इनके लगभग सभी कर्मचारी गंगा-जल वितरण में अपनी सेवाएं दे रहे हैं।

Edited By: Jagran