जागरण संवाददाता, करनाल :

कई दिन के बाद बुधवार सुबह सूर्यदेव के दर्शन हुए। हालांकि सुबह के समय धुंध छाई थी, लेकिन सूर्य देव निकलने व हवा चलने से धुंध छंट गई। सुबह से ही तेज धूप से लोगों को ठंड से राहत मिली है।

करनाल में अधिकतम तापमान 19.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं न्यूनतम तापमान गिरावट के साथ 4.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से 4.0 डिग्री कम दर्ज किया गया। हवा 3.2 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से चली। जो शीत लहर में तब्दील हो गई। सुबह के समय नमी की मात्रा 100 फीसदी दर्ज की गई। केंद्रीय मृदा लवणता अनुसंधान संस्थान के मुताबिक आने वाले 24 घंटे में धुंध फिर से दस्तक देगी। घनी धुंध के साथ शीत लहर परेशान करेगी। कृषि एवं कल्याण विभाग के अधिकारी डा. एसपी तोमर ने बताया कि गेहूं की फसल लिए यह ठंड बहुत अधिक लाभकारी है। धुंध से गेहूं की बालियों में फुटाव बेहतर होगा। ठंड जितनी लंबी चलेगी गेहूं की फसल के लिए उतनी ही लाभकारी साबित होगी।

जनवरी में तीसरी बार गिरा तापमान

मौसम विभाग के मुताबिक अमूमन ठंड के दो स्टेज आते हैं, दिसंबर माह में ठंड चरम पर होती है। जनवरी माह में भी तापमान एक बार सबसे निचले स्तर पर जाता है। लेकिन इस बार जनवरी माह में यह तीसरा मौका है जब न्यूनतम तापमान तीसरा बार सबसे निचले स्तर पर पहुंचा है। मौसम विभाग का मानना है कि आने वाले 24 घंटे में न्यूनतम तापमान मे ओर अधिक गिरावट आ सकती है।

Edited By: Jagran