जागरण संवाददाता, करनाल : मुख्यमंत्री के ओएसडी के बुलावे पर करनाल में राज्य कमेटी के प्रतिनिधिमंडल की सीएम आवास पर सकारात्मक बातचीत हुई। मांगों को लागू करने का आश्वासन मिला, मगर यूनियन ने फैसला लिया कि जब तक सरकार मांगों को लागू करने का पत्र जारी नहीं करती धरना जारी रखा जाएगा। कर्मचारी जिला सचिवालय के सामने धरने पर डटे हैं। 11 सितंबर तक हड़ताल को जारी रखने का फैसला लिया गया है। इसके बाद भी समाधान नहीं हुआ तो हड़ताल बढ़ा दी जाएगी। कर्मचारी नेताओं न कहा कि सरकार के अभी तक के रुख से लगता है कि को लंबा खींचकर थकाना चाहती है, लेकिन ये कर्मचारी थकने वाले नही हैं। भाजपा स्वच्छ हरियाणा-स्वच्छ भारत का नारा तो दे रही है, लेकिन गांवों को साफ-सुथरा रखने वाले ग्रामीण कर्मचारियों से बातचीत के लिए समय नही है, उनकी मांगों का समाधान करने को तैयार नही है। ग्रामीण सफाई कर्मचारियों की मांगों में उतर प्रदेश की तर्ज पर सफाई कर्मचारियों की सेवाएं नियमित हो, जब तक नियमित न हो तब तक 18 हजार रुपये न्यूनतम वेतन मिले। 2000 की बजाय 400 की आबादी पर एक कर्मचारी की नियुक्ति हो, सफाई कर्मचारियों को सभी प्रकार के अवकाश दिए जाए और बेगार प्रथा पर रोक लगे शामिल हैं।

इस अवसर पर सतपाल सैनी, हरीश बागी, उधम सिह राठी, सुशील गुज्जर, सुदेश रानी, भाग सिंह, जोगिद्र सिंह, जसबीर सिंह, प्रदीप, सुभाष, उषा रानी, तरसेम व रानी मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस