जागरण संवाददाता, करनाल : हरियाणा रोडवेज कर्मचारी तालमेल कमेटी ने विभाग द्वारा 510 निजी परमिट दोबारा जारी करने के विरोध में पुराने बस अड्डा में दो घंटे गेट मीटिग कर विरोध जताया। कर्मचारी नेताओं ने कहा कि सरकार जनता और कर्मचारियों की हितेषी होने की बजाए पूंजीपतियों की ओर ध्यान दे रही है। सरकार कर्मचारियों से किए गए वादों से बार-बार मुकर रही है। मीटिग की अध्यक्षता करते हुए प्रधान कृपाल सिंह लाडी व प्रधान वीरेंद्र सिंह ने कहा कि रोडवेज कर्मचारी पूरी मेहनत के साथ जनता की सेवा कर रहा है। विभाग को कोई नुकसान न हो इसका भी ध्यान रखता है। उन्होंने कहा कि खेद की बात है कि सरकार कर्मचारियों की अनदेखी कर रही है। विभाग का निजीकरण करने के प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने मांगों का जिक्र करते हुए कहा कि 510 प्राइवेट परमिट रद्द किए जाएं। रोडवेज के बेड़े में 14 हजार नई बसें शामिल की जाएं। विभाग में कर्मचारियों की पक्की भर्ती हो। पुरानी पेंशन नीति बहाल की जाए। अपरेंटिस पर लगे कर्मचारियों की तीन महीने की बकाया सैलरी दी जाए।

इस अवसर पर उपप्रधान संजीव कुमार, कमल मान, सपटर, विष्णु, कुलदीप, संदीप, सतपाल व बृज भूषण मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप