मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण संवाददाता, करनाल : भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की संयुक्त सचिव रेखा शुक्ला ने बुधवार को घरौंडा, करनाल व नीलोखेड़ी के एक दर्जन गांवों का दौरा कर इनमें बनाए गए सोखता गड्ढे, जल के पुन: प्रयोग के लिए जल संग्रहण विकास परियोजनाएं, रेन वाटर हार्वेस्टरों का निर्माण सघन पौधा रोपण तथा परंपरागत जलाशयों के रखरखाव जैसे कार्यों का निरीक्षण किया। अधिकारियों के साथ गत माह में अपने करनाल दौरे के दौरान जल संचयन के लिए उन कार्यों की समीक्षा की जिनके निर्देश दिए गए थे। उनके साथ पंचायती राज विभाग के कार्यकारी अभियंता जिला वन राजिक अधिकारी तथा संबंधित खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी भी उपस्थित थे।

केंद्रीय प्रभारी अधिकारी ने सबसे पहले घरौंडा खंड के गांव बसताड़ा हसनपुर तथा झिवरेड़ी गांव का भ्रमण किया। वहां बनाए गए सोखते गड्ढों को देखा। इसके बाद करनाल के गांव खरकाली व भूसली में जल संग्रहण परियोजनाओं का निरीक्षण किया। गांव रांवर में रेन वाटर हारर्वेस्टर तथा सरफाबाद माजरा में वन विभाग द्वारा करवाए गए सघन पौधारोपण कार्यक्रमों का निरीक्षण किया। इसके पश्चात उन्होंने करनाल खंड के दरड़ व संगोहा गांव में जल संग्रहण विकास कार्यक्रमों का निरीक्षण किया। रेखा शुक्ला ने गांव बड़साल तथा ख्वाजा अहमदपुर का भी भ्रमण किया। गांव में भूमिगत पेयजल की बर्बादी को रोकने तथा जल के सदुपयोग के लिए शत-प्रतिशत नलों पर टोटियां लगाने के निर्देश दिए।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप