संवाद सहयोगी, इंद्री : धुमसी गांव में दिल्ली बॉर्डर पर रवाना होने से पहले लोगों ने एकत्र होकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और किसानों की मांगों का समर्थन किया। सुखविदर, नरेंद्र श्योरण धुमसी, राकेश ने कहा कि क्षेत्र के कई गांवों से लोग दिल्ली बॉर्डर पर चल रहे आंदोलन में खाने-पीने के सामान आदि की मदद भेज रहे हैं।

बुधवार शाम को धुमसी जागीर गांव में युवाओं ने आटा, चावल, सब्जी, फल व अन्य खाद्य सामग्री एकत्र की। युवाओं एवं ग्रामीणों का एक टीम गाड़ी में लोड कर राशन को आंदोलन में लेकर गए। अब गांवों में आम लोग भी किसानों के आंदोलन में अपनी आहुति डाल रहे हैं।

इससे पहले बीबीपुर जाटान के लोग भी दिल्ली राशन पानी के रूप में आंदोलन में मदद पहुंचा चुके हैं। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार दोबारा से इस देश में इस्ट इंडिया कंपनी की स्थापना करना चाहती है और इस देश को गुलाम बनाना चाहती है। इस मौके पर जसमेर सिंह, किशन, सुखविदर, नरेंद्र श्योराण, कर्मजीत, राज्जा, प्रवीन, मनीष, सुरेंद्र, राकेश शर्मा, तेजिद्र, सलिदर मौजूद थे।

Edited By: Jagran