संवाद सहयोगी, बल्ला:

पिछले दिनों में तीन दिन तक रूक-रूक कर हुई बरसात से गांव कुरलन गांव के सैंकड़ों एकड़ खेत में पानी भर गया। धान की पौध भी पानी मे डूब गई है। संबधित विभाग द्वारा अब तक पानी निकासी का प्रंबध नहीं किया गया है। किसानों का कहना है कि पौध गलने से उन्हे लाखों रुपये का नुकसान हो गया है। ग्रामीणों ने प्रशासन से जल्द से जल्द पानी निकासी का प्रबंध करने की मांग की है। गांव कुरलन के किसान रमेश शर्मा, संजय, सुरेश, सीता राम, बलबीर, कर्मबीर, जयभगवान के अनुसार गांव के खेतों से सालवन की ओर नई ड्रेन गुजरती है। प्रशासन द्वारा इस ड्रेन की सफाई नही करवाई गई। क्षेत्र मे पिछले दो- तीन तक रूक-रूक कर हुई बारिश से ड्रेन में पानी ओवरफ्लो हो कर खेतो में भर गया। जहां पर अधिकतर किसान अपने खेतों में धान की रोपाई कर चुके हैं। धान की रोपाई में प्रति एकड़ करीब पांच हजार रुपये होते हैं जो फसल के डूबने से बर्बाद हो गए। पानी की निकासी शीघ्र ना होने पर किसान दोबारा धान की रोपाई भी नही कर पाएंगे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस