जागरण संवाददाता, करनाल : हर स्तर पर हो रही वादाखिलाफी, ठेका प्रथा, आउटसोर्सिंग की नीतियों और निजीकरण एवं छंटनी के खिलाफ पालिका कर्मचारी आठ नवंबर को शहरी स्थानीय निकाय मंत्री अनिल विज के अंबाला कैंट स्थित आवास पर राज्यस्तरीय विशाल आक्रोश प्रदर्शन करेंगे।

यह ऐलान करनाल नगर निगम कार्यालय में नगरपालिका कर्मचारी संघ के राज्य प्रधान नरेश कुमार शास्त्री ने किया। शास्त्री ने 24 घंटों के लिए 21 कर्मचारियों को माला डालकर भूख हड़ताल पर बैठाया। कर्मचारियों ने हाथरस कांड पीड़िता व फरीदाबाद कांड में न्याय की मांग भी उठाई। इसे लेकर दलित शोषण मुक्ति मंच व दलित अधिकार मंच के आह्वान पर शहर के मुख्य मार्गों पर प्रदर्शन करते हुए उन्होंने दोषियों को जल्द से जल्द सख्त सजा दिलाने की मांग की। धरना प्रदर्शन की अध्यक्षता नगरपालिका कर्मचारी संघ हरियाणा के जिला प्रधान वीरभान बिडलान ने की तथा मंच संचालन जिला सचिव इंद्रजीत चीनालिया ने किया।

कर्मचारियों से संवाद में नगरपालिका कर्मचारी संघ के राज्य प्रधान नरेश कुमार शास्त्री, उपमहासचिव सुनील व राज्य सचिव शारदा देवी ने कहा कि संघ व सरकार के बीच 25 अप्रैल व 17 अगस्त को दो दौर की वार्ताओं में शहरी स्थानीय निकाय मंत्री अनिल विज द्वारा दर्जनों मांगों पर सहमति जताई गई थी लेकिन सरकार ने मानी गई इन मांगों को लागू नहीं किया है। संघ नेताओं ने कहा कि सरकार तुरंत प्रभाव से क्षतिग्रस्त कर्मचारियों को वापस ड्यूटी पर ले तथा 25 अप्रैल और 17 अगस्त के समझौते को लागू करे। अन्यथा पालिका परिषद और निगमों के कर्मचारी 8 नवंबर को शहरी स्थानीय निकाय मंत्री के अंबाला कैंट स्थित आवास पर राज्यस्तरीय प्रदर्शन करेंगे। प्रदर्शन के मंच से ही आगामी आंदोलन की घोषणा की जाएगी। मलकीत सिंह, जगमाल सिंह, ओमप्रकाश माटा, विजय शर्मा व इकाई प्रधान राम सिंह ने कर्मचारियों को संबोधित किया।

Edited By: Jagran