जागरण संवाददाता, करनाल : स्वास्थ्य सेवाओं से संबंधित कई मांगों को लेकर जनवादी महिला समिति की करनाल इकाई ने सरकारी अस्पताल में धरना देकर मुख्यमंत्री के नाम तहसीलदार को मांग पत्र सौंपा। एक और ज्ञापन मदर ग्रुप यूनियन ने अपनी मांगों को लेकर तहसीलदार को सौंपा। धरने की अध्यक्षता जिला प्रधान तोषी सैनी ने की और संचालन जरासो देवी ने किया।

राकेश राणा, जरासो देवी व तोषी ने कहा कि जनवादी महिला समिति पूरे देश में आजाद हिद फौज की रानी लक्ष्मीबाई ब्रिगेड की कैप्टन और सामाजिक कार्यकर्ता डॉ. कैप्टन लक्ष्मी सहगल के स्मृति दिवस पर स्वास्थ्य सेवाओं को मजबूत करने के लिए धरना प्रदर्शनों का आयोजन कर रही है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य जनता का बुनियादी अधिकार है। सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवाओं को मजबूत करने, स्वास्थ्य पर 10 प्रतिशत बजट खर्च करने, सरकारी अस्पतालों में आइसीयू, ऑक्सीजन सप्लाई, दवाई, अल्ट्रासाउंड मशीन व डॉक्टरों की संख्या बढ़ाने, कोरोना का फ्री इलाज करने और जांच बढ़ाने आइसोलेशन वार्ड व वेंटीलेटर्स की संख्या बढ़ाने कोरोना वायरस के अलावा अन्य बीमारियों से जूझ रहे लोगों को इलाज मुहैया करवाने और निजी अस्पतालों पर सामाजिक नियंत्रण की मांग उठाई गई है। सरकारी अस्पतालों के डॉक्टर, नर्स, स्वास्थ्य कर्मी इस महामारी से लड़ने में अग्रिम पंक्ति में हैं, परंतु हमारे देश में स्वास्थ्य सेवाओं का तेजी से निजीकरण हो रहा है। ऐसी स्थिति में किसी भी महामारी से लड़ना बेहद मुश्किल है इसलिए सरकार को स्वास्थ्य सेवाओं पर खर्च बढ़ाना चाहिए। जनवादी महिला समिति आने वाले समय में स्वास्थ्य सेवाओं की बेहतरी के लिए बड़े स्तर पर अभियान चलाएगी। इस अवसर पर बिजनेश राणा, रीटा, बबली, बबीता, नीलम, सुमन, मन्नू व उषा मौजूद रहीं।

Edited By: Jagran