जागरण संवाददाता, करनाल : बर्खास्त पीटीआइ शिक्षकों ने रक्षा बंधन के दिन जिला सचिवालय से अस्पताल चौक तक जोरदार विरोध प्रदर्शन किया। जिन हाथों से महिलाओं ने अपने भाईयों की कलाइयों पर राखी बांधनी थी, उनसे वह थाली चम्मच बजाती हुई सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करती दिखी। सर्व कर्मचारी संघ और हरियाणा विद्यालय अध्यापक संघ के प्रतिनिधियों ने प्रदर्शनकारी पीटीआइ की अगुवाई की।

शिक्षक नेता जगतार सिंह व अनिल सैनी ने कहा कि बर्खास्त पीटीआइ सारे त्यौहार काले त्यौहार के रूप में मना रहे हैं, क्योंकि सरकार ने उन्हें नौकरी से निकाल दिया है। उन पर रोजी-रोटी का संकट आ गया है। सरकार को विधानसभा में प्रस्ताव पारित कर पीटीआई को नौकरी पर वापस रखना चाहिए। हरियाणा शारीरिक शिक्षक संघर्ष समिति के जिला प्रधान संदीप बलड़ी व हरियाणा शारीरिक शिक्षक संघ के जिला अध्यक्ष सुशील हथलाना ने कहा कि सरकार ने जो अन्याय किया है उसके चलते बेटियां रक्षा बंधन के दिन सड़कों पर प्रदर्शन कर रही है। सरकार सब्र की परीक्षा लेनी बंद करे। धरना स्थल पर क्रमिक अनशन पर बैठने वाले शिक्षकों में सुशील कुमार, रणजीत, अजमेर, राजकुमार व गुलाब शामिल रहे। इस अवसर पर रीना, वीना, नीलम, सुदेश, स्नेहलता, रानी, अनु, मीना भारद्वाज, भुवन कुमार, शिव कुमार गोंदर, भाग सिंह, तेजवीर मान, एसपी त्यागी, बीर सिंह लाठर, सोमदत्त शमर, प्रदीप सांगवान, राजकुमार, अजमेर, गुलाब सिंह व राजेश मौजूद रहे।

Edited By: Jagran