जागरण संवाददाता, करनाल: ऑल हरियाणा पावर कार्पोरेशन वर्कर यूनियन की शहरी यूनिट करनाल की ग्रिड व टीएल सब यूनिट एचयूपीएनएल करनाल की सब यूनिट के कर्मचारियों ने एक अधिकारी के रवैये के खिलाफ तीसरे दिन भी विरोध प्रदर्शन किया। अध्यक्षता सब यूनिट प्रधान देवीदत्त पांडे ने की व संचालन दीपक पोसवाल ने किया।

राज्य उपप्रधान एनपी सिंह चौहान व सर्कल सचिव विशाल बनवाला और राजेंद्र राणा ने कहा कि देश के किसानों द्वारा बिजली संशोधन बिल 2020 के खतरों को भांप कर तीन कृषि कानूनों के साथ ही इस बिल का विरोध करने का फैसला सराहनीय है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने चंडीगढ़ सहित केंद्र शासित प्रदेशों में इसे लागू करना शुरू कर दिया है। बिजली संशोधित बिल 2020 के प्रावधानों के अनुसार किसानों को मिलने वाली सब्सिडी समाप्त हो जाएगी।

राज्य कमेटी सदस्य चरण सिंह ढाकला व वरिष्ठ कर्मचारी सतीश मान, मुकेश जांगड़ा तथा राजेश कौशिक ने कहा कि सरकार कर्मचारी, किसान व मजदूर विरोधी नीतियां बना रही है। पूंजीपतियों को लाभ पहुंचाने वाले काम किए जा रहे हैं। इस अवसर पर अव्वल सिंह, महेंद्र पांचाल, रविद्र मान, सुरेश मान, भाग सिंह, विकास, राकेश संधु, राजेश कुमार, कमलजीत, जगमाल, मोहित, अजीत सैनी, राजेश जांगड़ा व आजाद सिंह ने कर्मचारियों को संबोधित किया।

Edited By: Jagran