जागरण संवाददाता, करनाल: आइजी ऑफिस के पास पॉश एरिया सेक्टर आठ में राइस शेलर सुभाष सिगला के आवास पर गोलियां बरसाने के आरोपितों का सुराग नहीं लगा।

पुलिस बदमाशों को जल्द काबू करने के दावे कर रही है, लेकिन इस वारदात से भय का माहौल है। बता दें कि सोमवार सुबह करीब साढ़े छह बजे सेक्टर आठ स्थित राइस सेलर संचालक एवं निसिग-गोंदर गोशाला के प्रधान सुभाष सिगला के आवास पर दो बदमाशों ने पहले आठ से दस बार डोर बेल बजाई और जब सिगला की पत्नी विद्या रानी के घर का जाली का दरवाजा खोल बाहर निकलने लगी तो बदमाशों ने उसी दौरान अंधाधुंध फायरिग कर दी थी। हालांकि इस हमले में वह बाल-बाल बच गई थी, लेकिन बदमाश सुभाष सिगला को जान से मार देने की धमकी देते हुए काले रंग की कार में अपने दो अन्य साथियों के साथ सवार होकर फरार हो गए थे। इस सनसनीखेज वारदात से जहां सुभाष सिगला का परिवार दहल गया था वहीं आसपास के लोग भी दहशत में आ गए थे। आइजी भारती अरोड़ा के कार्यालय एवं पूर्व अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक राजबीर देशवाल के आवास के समीप की गई इस वारदात के बाद पुलिस विभाग में भी हड़कंप मच गया था। सेक्टर नौ चोकी इंचार्ज से लेकर एसपी भी वारदात स्थल पर पहुंचे थे और पीड़ित परिवार के साथ-साथ वहां जमा लोगों को भी भरोसा दिया था कि बदमाशों को जल्द काबू कर लिया जाएगा। इसके लिए एसपी के आदेश पर सीआइए सहित चार टीमें लगाई गई, लेकिन मंगलवार देर रात तक भी पुलिस की इन टीमों के हाथ खाली ही रहे। उधर पुलिस गांव कुचपुरा स्थित गोदाम से एक दिन पहले रविवार रात को लाखों का धान लूट ले जाने के आरोपित बदमाशों का तीसरे दिन भी सुराग नहीं लगा पाई है। हालांकि पुलिस इन बदमाशों की तलाश में भी छापेमारी कर रही है।

Edited By: Jagran