जागरण संवाददाता, करनाल : जीटी रोड पर मंगलवार को उस समय बड़ा हादसा टल गया जब एक कार को हरियाणा पुलिस एकेडमी मधुबन की बस ने टक्कर मार दी। बस में करीब 42 पुलिस कर्मी सवार थे, जिन्हें कावड़ियों की सुरक्षा के लिए कुरुक्षेत्र ले जाया जा रहा था। हादसे के बाद चालक ने बस दौड़ाने का प्रयास किया, लेकिन कार सवार युवकों ने लोगों की मदद से पीछा कर बस को रुकवाया, जिसके बाद मामला पुलिस में पहुंचा।

दयानंद कालोनी वासी मनीष व उसका साथी कार में सवार होकर नमस्ते चौक पर गए थे। जैसे ही वे जीटी रोड से वापस आने लगे तो पीछे हरियाणा पुलिस अकादमी मधुबन की आ रही बस ने कार को टक्कर मार दी। इससे कार बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई तो वहीं बस को भी नुकसान हुआ। कार सवार इस हादसे में बाल-बाल बच गए। जब तक कार सवार संभलते चालक बस लेकर फरार होने लगा। कार सवार युवकों ने लोगों की मदद से बस का पीछा कर करीब दो किलोमीटर दूरी पर रुकवाया, जिसके बाद विवाद हुआ तो सिविल लाइन थाना पुलिस भी पहुंची। पुलिस ने दोनों वाहनों को कब्जे में ले लिया तो वहीं देर सायं दोनों पक्षों में समझौता भी हो गया।

बस में सवार थे करीब 42 पुलिस कर्मी : मंजूर अली

मामले की जांच कर रहे पुलिस अधिकारी मंजूर अली का कहना है कि बस में करीब 42 जवान सवार थे। कार के आगे लावारिश पशु आ जाने से अचानक ही ब्रेक लगा दिए गए, जिससे बस ने कार को टक्कर मार दी। इस हादसे में दोनों वाहनों में सवार लोग बच गए। दोनों पक्षों में समझौता हो गया है, जिसके चलते कोई कार्रवाई नहीं की गई। वहीं कार चालक मुनीष ने इस मामले में बातचीत करने से इन्कार कर दिया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप