जागरण संवाददाता, करनाल : सरकारी विभागों में विभिन्न पदों पर भर्ती के लिए आयोजित की जाने वाली परीक्षाओं में पेपर लीक से लेकर नकल आदि के मामलों में करनाल पर भी दाग लगे हैं। पिछले साल ही मई में हरियाणा लोक सेवा आयोग द्वारा नायब तहसीलदार पद के लिए आयोजित की गई परीक्षा का पेपर कुंजपुरा रोड स्थित एक निजी स्कूल में बनाए गए परीक्षा केंद्र से लीक होने का मामला सामने आया था, जिसमें एक स्कूल कर्मचारी के मोबाइल से पहले पेपर को बाहर भेजा और बाद में साल्व पेपर को अंदर भेजा गया। इतना ही नहीं, यह पेपर कुछ ही सेंकेड में रेवाड़ी में भी पहुंचा दिया गया था। मामले में तब जिला के एक खंड के शिक्षा अधिकारी व निजी स्कूल के शिक्षक का नाम सामने आया था। इस पूरे प्रकरण में रेवाड़ी पुलिस ने नौ आरोपितों को काबू किया था। वहीं अब हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग द्वारा ग्राम सचिव पद के लिए आयोजित की गई प्रतियोगी परीक्षा के दौरान पानीपत के समालखा में पेपर लीक की आशंका में पुलिस ने 14 आरोपितों को काबू किया है।

ताजा प्रकरण के तहत एक निजी स्कूल में बनाए गए परीक्षा केंद्र पर स्कूल संचालक व उसके बेटे को भी आरोपित माना गया है। इस मामले में पानीपत पुलिस ने छापेमारी करते हुए रविवार को ही करनाल के भी एक परीक्षा केंद्र के बाहर से आठ आरोपितों को काबू किया। हालांकि ये आरोपित करनाल के रहने वाले नहीं हैं लेकिन परीक्षा केंद्र पर इन्हें काबू किए जाने से करनाल एक बार फिर ऐसे प्रकरण को लेकर चर्चा में है। पानीपत पुलिस द्वारा कार्रवाई किए जाते ही करनाल पुलिस भी हरकत में आ गई और अब अपने स्तर पर भी जांच में जुटी है।

---------------

पानीपत पुलिस का पूरा सहयोग : एसपी

पुलिस अधीक्षक गंगा राम पूनिया का कहना है कि करनाल के परीक्षा केंद्र के बाहर से आठ आरोपितों को पानीपत पुलिस ने काबू किया है और पानीपत पुलिस ही पूरे प्रकरण की जांच कर रही है। करनाल पुलिस की ओर से उन्हें पूरा सहयोग किया जा रहा है। यहां भी पुलिस पूरी तरह अलर्ट है और अपने स्तर पर जांच भी की जा रही है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021