जागरण संवाददाता, करनाल: डीएवी पीजी कॉलेज में धूम्रपान निषेध दिवस पर नवीन भारत शिक्षण संवाद कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रिसिपल डा. आरपी सैनी ने की। इस मौके पर हरियाणा ग्रंथ अकादमी के उपाध्यक्ष प्रो. वीरेंद्र सिंह चौहान ने कहा कि इस प्रदूषण युक्त युग में हमारी जिम्मेदारी केवल खुद को धूम्रपान मुक्त रखने तक ही सीमित नहीं है अपितु हर धूम्रपान करने वाले को टोकने, रोकने और उसको जागरूक करना हमारी जिम्मेदारी है। धूम्रपान करने वाला व्यक्ति केवल अपने ही स्वास्थ्य का नुकसान नहीं करता। बल्कि दूसरों के लिए भी घातक होता है। इस अवसर पर ग्रामोदय संस्था के महामंत्री अनिल सिघानिया, डॉ. मीनाक्षी, डॉ. सुलोचना, डॉ. अवनीश बुद्धिराजा, डॉ. अंशु जैन, डॉ. जितेंद्र, डॉ. विजय, डॉ. रेखा चौधरी, डॉ. मोनिका, प्रेरणा, ज्योति, अनामिका, सपना, अंजू, रुचि, अनीता, प्रियंका, बलराम, विपिन व पूनम मौजूद रहे।

Posted By: Jagran