जागरण संवाददाता, करनाल

उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने बताया कि कोरोना वायरस को लेकर आयोजकों द्वारा रक्तदान शिविर रद किए जा रहे हैं जबकि ऐसे समय में ब्लड की अधिक जरूरत पड़ती है। उन्होंने अपील की है कि वह छोटे-छोटे स्तर पर कैंप लगाकर रक्तदान करें और कोरोना वायरस को लेकर जो जरूरी सावधानी हैं, उनका भी पालन करें और करवाएं।

उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा कोरोना वायरस को लेकर महामारी घोषित की गई है। कोरोना वायरस को महामारी घोषित किए जाने के बाद ब्लड की जरूरत की संभावना से इन्कार नहीं किया जा सकता। उन्होंने सभी संस्थाओं और व्यक्तिगत रक्तदाताओं से अपील की है कि वह छोटे-छोटे रक्तदान शिविर आयोजित करें और इन कैंपों में सभी प्रकार की सावधानी बरती जाए। ऐसा करने से भविष्य में संभावित खून की कमी से बचा जा सकता है।

सिविल सर्जन डा. अश्विनी आहुजा ने बताया कि जिले में ब्लड बैंक में अभी ब्लड की कोई कमी नहीं है, परंतु स्थिति को मद्देनजर रखते हुए कभी भी किसी भी जरूरतमंद को ब्लड की जरूरत पड़ सकती है। इसके लिए उपायुक्त ने सभी रक्तदाताओं से अपील की है कि वह रक्तदान का कार्य जारी रखें। यह जनहित में सबके लिए लाभकारी होगा। उन्होंने यह भी बताया कि इस समय जिला में कोई भी व्यक्ति कोरोना वायरस से पीड़ित अस्पताल में दाखिल नहीं है। जिला प्रशासन के सहयोग से जिला में स्वास्थ्य विभाग की टीमों द्वारा कोरोना वायरस के पीड़ितों के लिए सभी व्यापक प्रबंध पहले से ही किए हुए हैं। किसी भी व्यक्ति को घबराने की जरूरत नहीं बल्कि सावधान रहने की जरूरत है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस