जागरण संवाददाता, करनाल : मतदान जागरूकता के लिए चुनाव आयोग और जिला प्रशासन की ओर से भरसक प्रयास किए जा रहे हैं। इसी कड़ी में उच्चतर शिक्षा विभाग भी वोट के अधिकार का प्रयोग करने वाले विद्यार्थियों को स्याही दिखाने पर प्रशंसा-पत्र सौंपा जाएगा। प्रदेशभर के सभी कॉलेज प्राचार्यों को प्रशंसा-पत्र छपवाने के निर्देश दिए गए हैं। उच्च शिक्षण संस्थानों की ओर से 21 अक्टूबर 2019 को होने वाले प्रदेश विधानसभा चुनाव में सिस्टमेटिक वो‌र्ट्स एजुकेशन एंड इलेक्टोरल पार्टिसिपेशन (स्वीप) के तहत युवाओं को जागरूक किया जा रहा है। उच्चतर शिक्षा विभाग के निदेशक ए श्रीनिवास ने सरकारी और गैर-सरकारी कॉलेजों के प्राचार्यों को वीडियो कांफ्रेसिग के माध्यम से निर्देश जारी किए हैं। प्रदेश के 154 सरकारी कॉलेजों, 96 एडिड कॉलेजों, 84 सेल्फ-फाइनेंसिग कॉलेजों के प्राचार्यों ने निर्देश पर अमल करना शुरू कर दिया है। एक लाख से अधिक विद्यार्थी होंगे प्रोत्साहित : डॉ. चंद्रशेखर भारद्वाज

फोटो 20 उच्चतर शिक्षा विभाग के अधीन प्रदेश भर के एक लाख से अधिक विद्यार्थियों को वोट डालने के बाद सम्मानित करने की योजना है। इससे पहले प्राचार्यों और स्वयंसेवकों के सदस्य अधिक-अधिक मतदान के लिए युवाओं को जागरूक कर रहे हैं और परिजनों व आसपास के लोगों को भी मतदान के लिए प्रेरित करने की हिदायत दे रहे हैं। दयाल सिंह कॉलेज प्राचार्य डॉ. चंद्रशेखर भारद्वाज ने बताया कि युवाओं को प्रशंसा-पत्र वितरित करने के लिए प्रिंटिग का काम करवाया जा रहा है। चुनाव के बाद कॉलेज लगते ही अंगुली पर निशान दिखाने पर सम्मानित किया जाएगा। एसडीएम नरेंद्रपाल मलिक ने बताया कि जिन संस्थाओं के अधिकतर विद्यार्थी वोट डालेंगे उन संस्था प्रमुखों को भी राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर सम्मानित किया जाएगा। कॉलेज परिसर में विद्यार्थियों के लिए प्रेरित

फोटो 14

इसी कड़ी में, दयाल सिंह कॉलेज में एनएसएस के स्वयंसेवकों की ओर से मतदान जागरूकता अभियान चलाया गया। विद्यार्थियों को ईवीएम, वीवीपैट, बैलेट यूनिट, कंट्रोल यूनिट, नोटा और एमएलए के बारे में नकारी दी गई। प्राचार्य डा. चंद्रशेखर भारद्वाज ने कहा कि लोकतंत्र को मजबूत बनाने के लिए 21 अक्टूबर को अपने मत का उपयोग अवश्य करें। अपने मत का उपयोग बहुत सोचकर व समझदारी से करें क्योंकि हम अपने मत का उचित प्रयोग करके ही एक मजबूत लोकतंत्र की स्थापना कर सकते हैं। इस अवसर पर अनिल कुमार, राहुल बांसा, प्रद्युमन, पंकज, अमित मलिक मौजूद थे। इसके अलावा, डीएवी पीजी कॉलेज में प्राचार्य डा. रामपाल सैनी ने बताया कि विद्यार्थी वोट डालने के बाद निशान दिखाकर किताबों और फीस में छूट प्राप्त कर सकते हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप