-- इनमें विदेश भेजने की आड़ में धोखाधड़ी, चोरी व अवैध शराब से जुड़े मामले शामिल संवाद सहयोगी, घरौंडा : मूनक थाने में कामकाज शुरू होते ही आपराधिक मामले पहुंचने भी शुरू हो गए हैं। शनिवार को पहले ही दिन तीन मामले पहुंचे, जिनमें विदेश भेजने की आड़ में धोखाधड़ी, चोरी व अवैध शराब से संबंधित मामले शामिल है।

गांव गगसीना वासी शितिज संधू ने आइजी के नाम दी शिकायत में आरोप लगाते हुए बताया कि उसे विक्रांत वासी पानीपत ने विदेश भेजने का झांसा दिया था, जिसके लिए 10 लाख रुपये तय किए गए। आरोपित उससे करीब तीन लाख रुपये ले चुका था तो फिर उसे मकाऊ भेज दिया, जहां वह छह लाख 60 हजार रुपये लेकर गया। आरोपित ने वहां यह राशि भी नौकरी दिलाने का झांसा देकर ले ली और खुद भारत वापस आ गया। वह भी कुछ समय बाद वापस लौटा तो दी राशि वापस देने की मांग की तो इंकार दिया और जान से मारने की धमकी दी जाने लगी। पुलिस ने आरोपित के खिलाफ आइजी के आदेशानुसार केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

वहीं दूसरे मामले में एसडीओ धर्मपाल जागलान ने बताया कि गगसीना वासी अजमेर व बलवंत के खेतों से ट्रासफार्मर सामान चोरी कर लिया गया। वहीं एक अन्य मामले में पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर बल्ला की ओर से नहर की तरह आ रहे एक व्यक्ति को नौ बोतल अवैध शराब सहित काबू किया है। आरोपित की पहचान बलजीत वासी बल्ला के तौर पर हुई । उसके खिलाफ भी केस दर्ज कर लिया गया। बता दें कि मूनक थाना शुक्रवार को ही शुरू हुआ है, जिसका शुभारंभ आइजी भारती अरोड़ा ने किया था।

Edited By: Jagran