जागरण संवाददाता, करनाल : जिले में कोरोना के मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी तो हुई है, लेकिन इसके साथ ही ठीक होने वाले मरीजों की संख्या में भी इजाफा हुआ है। स्वास्थ्य विभाग ऐसे में कोरोना की चेन को तोड़ने के लिए इसी सप्ताह एक प्रयास शुरू कर रहा है। विभाग होम आइसोलेट होने वाले कोरोना मरीजों को घर पर ही मेडिसन किट उपलब्ध कराएगा, ताकि संक्रमण का खतरा कम हो। कोरोना मरीज का आवागमन ना के बराबर ही रहे, इसलिए स्वास्थ्य विभाग होम आइसोलेट करने वाले मरीजों पर निगरानी तो बनाए रखेगा ही साथ ही उनकी जरूरत के अनुसार दवाईयां व इम्यूनिटी बूस्टर, मल्टी विटामिन की टेबलेट, मास्क व सैनिटाइजर दिए जाएंगे। इसी सप्ताह इस विषय पर काम शुरू किया जा रहा है। घर रहकर कैसे रोकें संक्रमण, यह भी बताया जाएगा

कोरोना संक्रमित मरीजों को मुख्यालय की ओर से छपवाई गई बुक भी उपलब्ध कराई जाएगी। उसमें कोरोना संक्रमण को फैलने से कैसे रोका जा सकता है। क्या-क्या सावधानियां बरतनी चाहिए, तमाम तरह की जानकारियां इस बुक में हैं। इनका वितरण भी इसी सप्ताह सुनिश्चित करने का फैसला लिया गया है। बुजुर्गों को उपलब्ध कराए जाएंगे ऑक्सीमीटर

स्वास्थ्य विभाग अब आशंकित व कोरोना संक्रमित बुजुर्गों को अब ऑक्सीमीटर उपलब्ध कराएगा। स्वास्थ्य विभाग के चिकित्सक उनकी निगरानी तो करेंगे ही साथ ही यह ऑक्सीमीटर देंगे। इसका यह उद्देश्य है कि यदि उनको शरीर में ऑक्सीजन का लेवल कम लगे तो वह संबंधित चिकित्सक से संपर्क करें, ताकि समय रहते स्थिति को नियंत्रित किया जा सके। रविवार को कोरोना के 43 केस मिले

जिले में अब तक कोरोना वायरस आशंकित कुल 34523 व्यक्तियों के सैंपल लिए जा चुके हैं, जिसमें से 32518 की रिपोर्ट नेगिटिव आई है। 1301 मामले पॉजिटिव मिल चुके हैं। जिनमें से 13 की मृत्यु हो चुकी है। 261 केस एक्टिव हैं तथा 1027 मरीज ठीक होकर अपने घर चले गए हैं। जिला में रविवार को 43 केस पॉजिटिव मिले हैं। रविवार को निर्मल धाम से स्वास्थ्य विभाग की टीम ने 490 सैंपल लिए हैं, जिनकी रिपोर्ट सोमवार तक आएगी।

वर्जन

कोरोना की चेन तोड़ने के लिए स्वास्थ्य विभाग की ओर से निरंतर प्रयास किया जा रहा है। लोगों के सहयोग के बिना यह संभव नहीं है। विभाग ने फैसला किया है कि होम आइसोलेट कोरोना संक्रमितों को घर पर ही मेडिसन किट उपलब्ध कराई जाए। इससे संक्रमण फैलने की संभावना कम हो जाएगी। इसके अलावा भी बुजुर्गों को ऑक्सीमीटर उपलब्ध कराए जाएंगे। कोरोना संक्रमित घर पर रहकर कैसे देखभाल करेंगे उसके लिए बुक प्रकाशित कराई गई है, वह भी वितरित की जाएगी।

डा. योगेश शर्मा, सिविल सर्जन।

Edited By: Jagran