सेवा सिंह, करनाल

लगातार 24-24 घंटे ड्यूटी कर थक चुके पुलिसकर्मियों के लिए राहत भरी खबर है। उन्हें अब इतने लंबे समय तक नहीं बल्कि शिफ्ट अनुसार ड्यूटी देनी होगी। सबसे पहले जीटी रोड पर स्थित पुलिस बूथों पर तैनात पुलिस कर्मियों को राहत देने की योजना है, जिसके लिए रिपोर्ट मांगी गई है। पुलिस कर्मियों से बेहतर ड्यूटी कराने के लिए यह कदम पुलिस अधीक्षक गंगाराम पूनिया ने उठाया है।

अपनी नियुक्ति के बाद पहली बार रूबरू हुए एसपी ने पुलिस को चुस्त-दुरूस्त बनाने से लेकर अपराध पर नियंत्रण के संबंध में भी जानकारी सांझा की। उन्होंने बताया कि वह उस समय हैरान रह गए जब जीटी रोड स्थित पुलिस बूथों का औचक निरीक्षण किया और वहां पुलिस कर्मी 24 घंटे तक ड्यूटी करते मिले। ऐसे में लगातार ड्यूटी से न केवल कर्मचारी थक जाता है बल्कि उसकी बीमार होने की भी संभावना बढ़ जाती है। ऐसे में ड्यूटी भी अक्सर वे बेहतर ढंग से नहीं कर पाते, जिसका फायदा आपराधिक लोग उठा जाते हैं। हर स्तर पर पुलिसकर्मियों से शिफ्ट अनुसार ही ड्यूटी लिए जाने का प्रयास है, जिसके लिए प्रयास शुरू कर दिया गया है।

--------------------

ढिलाई वाले पुलिस अधिकारी नपेंगे

एसपी ने बताया कि पुलिस कर्मियों के स्वास्थ्य से लेकर व्यवस्था को बेहतर बनाए जाने के प्रयास किए जा रहे हैं लेकिन अपनी ड्यूटी में ढिलाई बरतने वाले पुलिस अधिकारियों को भी छोड़ा नहीं जाएगा। शिकायत पर उचित कार्रवाई समय पर किए जाने के आदेश दिए गए हैं। यहीं नहीं विभाग से भ्रष्टाचार को मिटाने का भी प्रयास है। लापरवाह व भ्रष्टाचारी में शामिल अधिकारी व कर्मचारी के खिलाफ तत्काल कार्रवाई की जाएगी। काम करने वाले कर्मियों को मौका दिया जाएगा।

----------------

एक साल का खंगाला जा रहा रिकार्ड, गूगल से मैपिग

एसपी के अनुसार चोरी से लेकर छीनाझपटी जैसी घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए विशेष योजना तैयार की जा रही है। पिछले एक साल में हुई वारदातों को खंगाला जा रहा है। जहां-जहां अधिक वारदातें हुई, उनकी गूगल से मैपिग कराई जा रही है और ऐसी जगह पर विशेष गश्त व नाकेबंदी की जाएगी।

------------

अब सीआइए के हाथ सीमा सुरक्षा

करनाल में अपराध कर उत्तरप्रदेश फरार हो जाना अब अपराधियों के लिए आसान नहीं होगा। उन्हें रोकने के लिए प्रदेश की उत्तरप्रदेश से लगती सीमा पर विशेष तौर से सीआइए की गश्त लगाई गई है, जो उत्तरप्रदेश जाने वाले हर रास्ते पर पर रात के समय तैनात रहेगी।

--------------------

महिलाओं के विरुद्ध अपराध व अवैध नशे पर लगेगा अंकुश

एसपी गंगाराम पूनिया का कहना है कि उनकी प्राथमिकता महिला विरुद्ध अपराध व नशे पर लगाम लगाना है। सभी थाना प्रभारियों को आदेश जारी किए गए हैं कि महिला विरुद्ध अपराध की शिकायत मिलते ही तत्काल केस दर्ज कर जांच शुरू की जाए। वहीं नशे के अवैध कारोबार में संलिप्त रहे लोगों की सूची भी जुटाई जा रही है। ऐसे लोगों पर भी शिकंजा कसा जाएगा जो अभी तक पुलिस गिरफ्त से बाहर रहे है।

Edited By: Jagran