जागरण संवाददाता, करनाल : जीटी रोड पर स्थित एक ढाबे पर कार्य कर रहे मजदूर से नकली नोट बरामद होने के बाद इसके पीछे सरगना तक पुलिस तीसरे दिन भी नहीं पहुंच पाई। पुलिस ने आरोपित मजदूर रामचंद्र को सात दिन के रिमांड पर लिया हुआ है। लगातार दो दिन से आरोपित ब्यान बदलता रहा, जिसके चलते अभी पुलिस को बड़ी सफलता हाथ नहीं लगी है। हालांकि एसएचओ सदर संदीप कुमार ने दावा किया है कि जल्द ही मुख्य सरगना का खुलासा कर लिया जाएगा। बता दें कि ढाबे से गल्ले में लगातार तीन दिन तक 50 व 200 के नकली नोट मिलने पर संचालक नरेंद्र राणा व उनके रिश्तेदार संजय कुमार को शक हुआ था। तलाशी लेने पर उससे 79 हजार रुपये के नकली नोट बरामद हुए थे तो उन्हें लेकर संजय सदर थाना पहुंचे, जहां पुलिस ने उसके खिलाफ मंगलवार को ही मामला दर्ज कर लिया था। आरोपित को अगले दिन सात दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया, लेकिन दूसरे दिन भी उसने सरगना के राज नहीं खोले। वहीं पुलिस ने मामले को लेकर ढाबा संचालकों से भी पूछताछ की है तो आरोपित द्वारा बताए जाने वाले नामों के बारे में जानकारी ली, लेकिन उन्होंने बताया कि वे ऐसे नामों को नही जानते। पुलिस पूछताछ में जुटी है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस