जागरण संवाददाता, करनाल : करीब 600 करोड़ की धोखाधड़ी के आरोपित कारोबारी नरेश सिगला को शुक्रवार को अदालत में पेश किया गया, जहां से उसे एक दिन के लिए फिर पुलिस रिमांड पर लिया गया है। पुलिस जहां उसकी प्रॉपर्टी के दस्तावेजों की छानबीन करेगी वहीं उससे इनकी तस्दीक भी कराई जाएगी। आरोपित को शनिवार को फिर अदालत में पेश किया जाएगा।

बता दें कि नौ अक्टूबर को आरोपित नरेश सिगला ने सरेंडर कर दिया था, जिसके बाद उसे एक सप्ताह के लिए पुलिस रिमांड पर लिया गया था। आरोपित के मामलों की जांच इकनोमिकल सेल द्वारा की जा रही है। जहां अभी तक आरोपित के खिलाफ करनाल शहर के अलावा जींद व यमुनानगर के पुलिस थानों में भी दर्ज मामले सामने आ चुके हैं वहीं करनाल अनाजमंडी के ही 111 आढ़तियों के साथ करीब पौने 11 करोड़ रुपये की देनदारी के अलावा बैंकों की भी देनदारी बताई जा रही है। इकोनोमिक सैल के इंचार्ज संदीप कुमार का कहना है कि अभी तक रिमांड के दौरान आरोपित की प्रॉपर्टी के बारे में गहनता से जानकारी जुटाई गई है। कई जगह उसकी संपत्ति का पता चला है तो वहीं इन पर लोन की स्थिति भी जांची जा रही है। इसी सिलसिले में अभी दस्तावेजों की तस्दीक करानी है, जिसके लिए आरोपित को एक दिन के रिमांड पर लिया गया है। बता दें कि आरोपित के मामलों की जांच सीबीआई भी कर रही है, जहां वह दुबई से आने के बाद अपने बयान भी दर्ज करवा चुका है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस