जागरण संवाददाता, करनाल : नगर पालिका कर्मचारी संघ शाखा करनाल मैं राज्य कमेटी के आह्वान पर झाडू प्रदर्शन किया गया। प्रदर्शन की अध्यक्षता इकाई प्रधान वीरभान बिड़लान ने किया। जिला प्रधान अशोक परोचा व जिला सचिव इंद्रजीत चनालिया ने कहा कि प्रदेश सरकार ने जो 30 अगस्त 2019 को जो सरकार से जो वार्तालाप हुई थी उसमें कई मांगों पर सहमति जताई गई थी, जिसका अभी तक कोई भी प्रपत्र जारी नहीं हुआ। प्रदेश सरकार ने जिन मांगों पर सहमति जताई गई थी वह मांगे कैशलेस मेडिकल सुविधा देने, 24 मई के फैसले के बाद निकाले गए कर्मचारियों को ड्यूटी पर वापस लेने, 10 लाख रुपये का दुर्घटना बीमा करने, ईपीएफ व इएसआइ की जांच करवाने, 27 अगस्त से 30 अगस्त तक चली 4 दिवसीय हड़ताल को ड्यूटी अवधि मानकर वेतन देने, 3-4 अक्टूबर 2018 के हड़ताल का वेतन देने, हड़ताल के दौरान हटाए हटाए गए सभी प्रकार के कर्मचारियों को ड्यूटी पर वापस लेने, तथा नौकरी की सुरक्षा की गारंटी देने का फैसला हुआ था और फैसले में मानी गई उक्त सभी मांगों के पत्र को तुरंत प्रभाव से जारी करने का वादा किया था लेकिन 30 अगस्त के फैसले के बाद केवल 6 सितंबर को फायर सीवर व सफाई के कार्य में ठेका प्रथा समाप्त करने का पत्र जारी हुआ है।

इस मौके पर शारदा देवी, अशोक परोचा, इंद्रजीत चनालिया, जगपाल राणा, जोगिद्र सिंह, जसबीर, राजेश, टोनी व तरसेम मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप