जागरण संवाददाता, करनाल: हरियाणा सरकार ने नई पहल की है, जिसके तहत प्रदेश की जनता से वर्ष 2021 के लिए कलेक्टर रेट में संशोधन के लिए आपत्तियां और सुझाव आमंत्रित किए हैं। मकसद है कि आमजन के सहयोग से उनके संबंधित क्षेत्र के लिए कलेक्टर रेट निर्धारित किए जाएं। ये सुझाव 22 जनवरी तक दे सकते हैं।

डीसी निशांत यादव ने सोमवार को लघु सचिवालय में कलेक्टर रेट में संशोधन प्रक्रिया के तहत आपत्ति और सुझाव आमंत्रित करने के लिए समीक्षा बैठक में दी। उन्होंने बताया कि कलेक्टर रेट का ड्राफ्ट प्रशासन की वेबसाइट पर अपलोड किया है। नागरिक आपत्तियां दर्ज करने के लिए इस वेबसाइट पर जाकर कलेक्टर रेट ऑब्जेक्शन मेन्यू के बाद लॉगइन फॉर पब्लिक पर क्लिक करें। मार्केट रेट देख हैरान हैं सभी

बैठक में जिला राजस्व अधिकारी सुरेश कुमार ने बताया कि करनाल शहर में कुछ ऐसे क्षेत्र हैं, जहां कलेक्टर रेट से भी ज्यादा मार्केट रेट है। उन्होंने सुझाव देते हुए बताया कि सेक्टर 32 में कलेक्टर रेट 19000 रुपये वर्ग गज है, जबकि मार्केट रेट 40000 वर्ग गज है। इसी प्रकार न्यायपुरी में कलेक्टर रेट 22000 रुपये प्रति वर्ग गज है जबकि मार्केट रेट 35000 से 40000 रुपये है। अशोक नगर में कलेक्टर रेट 10000 रुपये है जबकि मार्केट रेट 20000 रुपये और जनकपुरी-मंगल कालोनी में कलेक्टर रेट 5000 से 5500 रुपये है जबकि मार्केट रेट 10000 रुपये प्रति वर्ग गज है।

कुछ जगह के रेट घटाने के सुझाव

डीसी ने कहा कि कलेक्टर रेट की चोरी न हो, ऐसे में इन क्षेत्रों के मार्केट रेट को मद्देनजर रखते हुए कलेक्टर रेट निर्धारित किए जा सकते हैं। कुछ सुझाव कलेक्टर रेट घटाने के आए हैं, जिनमें अधिकतर गांव की जमीन और कंपनियों के रेट शामिल हैं।

Edited By: Jagran