संवाद सहयोगी, तरावड़ी : महामंडलेश्वर स्वामी धर्मदेव महाराज ने कहा कि मां-बाप की सेवा से बड़ी कोई सेवा नहीं है। मां-बाप की सेवा करने से मन को शांति मिलती है। हम हर जगह मंदिर में भगवान को ढूंढ़ते हैं, लेकिन इंसान को यह नहीं समझ आता कि उनके घर में ही मंदिर है और वहीं पर ही भगवान वास करते हैं। महामंडलेश्वर स्वामी धर्मदेव महाराज नीलोखेड़ी हलके के विधायक भगवानदास कबीरपंथी की माता तारो देवी की तरावड़ी अनाज मंडी में आयोजित श्रद्धांजलि सभा में श्रद्धालुओं को प्रवचन कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि इंसान को चाहिए कि वह घर को मंदिर बनाएं और खुद मां-बाप के पुजारी बनकर हमेशा उनकी सेवा करते रहें। हमारी आत्मा सबसे पवित्र है। सच्ची आत्मा और सच्चे मन से मां-बाप की सेवा में जुट जाएं तो हमारा जीवन अवश्य ही सफल हो जाएगा। विधायक भगवानदास कबीरपंथी की माता तारो देवी की श्रद्धांजलि सभा में मंहत शालिक दास, ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय से बहन प्रेम, शीशगंज गुरुद्वारा से पाठी के अलावा अन्य संतों ने शिरकत कर सच्चे मार्ग पर चलने के लिए प्रेरित किया। मंच संचालन समाजसेवी राकेश हंस एवं यशपाल शर्मा ने किया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस