मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण संवाददाता, करनाल : इंद्री रोड स्थित श्री आत्मा मनोहर जैन आराधना मंदिर में भगवान महावीर जन्म कल्याणक महोत्सव भक्ति-भावनापूर्वक सैकड़ों श्रद्धालुओं की उपस्थिति में मनाया गया। अजय गोयल, अनिता जैन, सुधा जैन, विधि तुली ने अपने भजनों से प्रभु महावीर का गुणगान किया।

साध्वी जागृति के भजन के स्वरों देखो महावीर जयंती आई, कैसी-कैसी खुशियां लाई ने सभी को झूमने के लिए विवश किया। वर्तमान को वर्धमान की आवश्यकता है, हिसा पीड़ित विश्व राह महावीर की ताकत है। हिसा के बादल छाए संसार पर सर्वनाश के दुनिया खड़ी कगार पर, महावीर ही पथ भूलों को समझा सकता है। भजन की शब्दावली ने अहिसा की वर्तमान संदर्भ में अत्यधिक प्रासंगिकता को समझाया।

वीयूएमएम जैन पब्लिक स्कूल के विद्यार्थियों ने समूह गीत तथा नृत्य से महावीर जन्मोत्सव की बधाई दी और अहिसा के सजग प्रहरी भगवान महावीर के जन्म को इतिहास की एक अविस्मरणीय घटना बताया जिसने भारत के धार्मिक जगत में बहुत बड़ी क्रांति का सूत्रपात किया।

महासाध्वी प्रमिला महाराज ने भगवान महावीर के जन्म को त्रस्त मानव एवं प्राणी जगत के लिए एक बहुत बड़ा वरदान बताया जिन्होंने धर्म के नाम पर बढ़ रहे ढोंग, आडंबर के विरूद्ध आवाज उठाते हुए यथार्थ जीवन जीने का संदेश दिया। भेदभाव, पक्षपात, हिसा को किसी भी मूल्य पर स्वीकार न करते हुए भगवान महावीर ने प्राणी मात्र के कल्याण तथा सुख के लिए प्रयत्नशील रहने की प्रेरणा दी।

उन्होंने बताया कि भगवान महावीर ने दुराग्रह, हठवादिता को छोडकर जहां से भी सच्चाई मिले, उसे ग्रहण करने पर बल दिया। भौतिकवाद की बढ़ रही काली छाया वाले इस युग में भगवान महावीर के सिद्धांतों को अपनाकर सुख के राजमहल में प्रवेश सुनिश्चित किया जा सकता है।

इस मौके पर धनदेवी जैन ने झंडा फहराया। डॉ. राकेश मित्तल ने भगवान महावीर दरबार का अनावरण किया। देसराज-वीणा गुप्ता ने प्रसाद वितरण किया। सुशील जैन, सुरेन्द्र जैन, डॉ. मोहन लाल, नवीन जैन, सरोज जैन, शीतल जैन, वीणा गुप्ता आदि उपस्थित रहे। महावीर जयंती पर श्रद्धालुओं में विशेष उत्साह दिखाई दिया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप