जागरण संवाददाता, करनाल

हरियाणा पुलिस अकादमी, मधुबन में सभागार कक्ष में महिला सुरक्षा विषय पर पांच दिनी प्रशिक्षण कार्यक्रम संपन्न हुआ। यह कार्यक्रम पुलिस अनुसंधान और विकास ब्यूरो नई दिल्ली के तत्वावधान में चलाया। इसके समापन अवसर पर अकादमी के एसपी कृष्ण मुरारी ने मुख्य अतिथि के रूप में शिरकत की। इसमें हरियाणा के विभिन्न जिलों से आए 25 पुलिस अधिकारियों ने भाग लिया, जिनमें सात महिला पुलिस अधिकारी भी शामिल रहीं।

एसपी कृष्ण मुरारी ने कहा कि लोकतांत्रिक व्यवस्था में प्रत्येक नागरिक की सुरक्षा और गरिमा की गारंटी संविधान प्रदान करता है, जिसे पुलिस और प्रशासन की मशीनरी लागू करती है। पुलिस ऐसा विभाग है जिसे सभी वर्गो के लोगों से व्यवहार करना होता है। उन्होंने कहा कि पुलिसकर्मी को प्रत्येक नागरिक से गरिमापूर्ण व्यवहार करना चाहिए। थाने में व्यक्ति पीड़ित, गवाह या आरोपी किसी भी हैसियत से हो, उसके साथ अच्छा बर्ताव करने से समाज में सुरक्षा की भावना विकसित होगी और पुलिस को अपनी ड्यूटी निभाने में समाज से भरपूर सहयोग मिलेगा। उन्होंने महिला सुरक्षा के विषय में कहा कि घर से ही महिलाओं का सम्मान करने के संस्कार बच्चे को दिए जाने चाहिए। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि वर्तमान प्रशिक्षण से प्रतिभागियों को महिला से जुड़े मामले में ओर अच्छी तरह से कार्य करने के लिए समझ बढ़ी होगी। उन्होंने प्रतिभागियों को प्रशिक्षण प्रमाण-पत्र भी प्रदान किए।

प्रशिक्षण कार्यक्रम निदेशक एवं जिला न्यायवादी आनन्द मान ने कोर्स रिपोर्ट प्रस्तुत की। उप-पुलिस अधीक्षक शीतल सिंह धारीवाल ने प्रतिभागियों और व्यवस्था में लगे व्यक्तियों का आभार जताया।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस