जागरण संवाददाता, करनाल

कल्पना चावला राजकीय राजकीय मेडिकल कॉलेज और अस्पताल से एमबीबीएस के थर्ड ईयर में एडमिशन का रास्ता साफ हो गया है। इसके लि मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया से अनुमति मिल गई है। मेडिकल कॉलेज प्रबंधन लगातार तीसरी बार एमसीआइ (मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया) के नियमों पर खरा उतरा है। एडमिशन सेंट्रलाइज काउंसिल से भरे जाएंगे। मेडिकल कॉलेज की ओर से भी नए शैक्षणिक सत्र को लेकर पूरी तैयारियों की जा रही हैं। एमबीबीएस स्टूडेंट्स के लिए सेंट्रल लाइब्रेरी, कंप्यूटर लाइब्रेरी, एनोटमी, फिजियालॉजी और बायोकेमिस्ट्री डिपार्टमेंट की सुविधा दी जा रही है। मेडिकल कॉलेज प्रबंधन के मुताबिक अब कॉलेज में स्टूडेंट्स की संख्या बढ़कर 300 हो जाएगी। हर वर्ष लेनी होगी अप्रूवल

कल्पना चावला राजकीय मेडिकल कॉलेज को फ‌र्स्ट और सेकेंड के बाद अब थर्ड ईयर के लिए एमसीआइ की अप्रूवल मिल गई है। अब बाकी अप्रूवल के लिए हर साल अप्लाई करना होगा। अप्लाई करने के बाद मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया की टीम हर बार निरीक्षण करेगी। जिसमें फैकलटी, इंफास्ट्रक्चर, लैब सहित अन्य सुविधाएं देखी जाएंगी। हर पहलू पर खरा उतरने के बाद कॉलेज में तीसरे, चौथे और पांचवे साल वर्ष को अप्रूवल दी जाएगी। दो बार किया गया था निरीक्षण

कल्पना चावला राजकीय मेडिकल कॉलेज और अस्पताल का दो बार मेडिकल काउंसिल आफ इंडिया की ओर से इंस्पेक्शन किया गया है। नवंबर 2018 में एमसीआइ की गाइडलाइन के अनुसार कुछ खामियां टीम को नजर आई थी। इन्हें मेडिकल कॉलेज प्रशासन ने दूर किया। आखिरी विजिट अप्रैल 2019 में थी, एमसीआइ की रिपोर्ट के आधार पर भारत सरकार के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण ने कल्पना चावला राजकीय मेडिकल कॉलेज में थर्ड ईयर को अप्रूवल दी है। स्टूडेंट्स बढ़े तो हॉस्टल का दायरा भी बढ़ाया

मेडिकल कॉलेज में सेकेंड ईयर में एडमिशन के बाद स्टूडेंट्स की संख्या 300 हो जाएगी। ऐसे स्थिति को देखते हुए हॉस्टल का दायरा भी बढ़ाया गया है। इसका डिजाइन एम्स के हॉस्टल की तर्ज पर बनाया गया है। हॉस्टल में स्टूडेंट को अलग से कमरा उपलब्ध होगा। उसमें अलमारी, बेड और शौचालय भी साथ ही होगा। वर्जन

फोटो---12 नंबर है।

यह खुशी की बात है कि हम लगातार बार एमसीआइ की गाइडलाइन पर खरे उतरे हैं। थर्ड इयर के एडमिशन को लेकर अप्रूवल मिल गई है। अगस्त माह में एडमिशन की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। एमबीबीएस की 100 सीटों पर एडमिशन होंगे। जिसमें 85 स्टेट और 15 आल इंडिया काउंसलिग से भरे जाएंगे। भारत सरकार के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण की ओर से अप्रूवल का पत्र मिल चुका है।

डॉ. सुरेंद्र कश्यप, निदेशक, कल्पना चावला राजकीय मेडिकल कॉलेज और अस्पताल करनाल।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप