जागरण संवाददाता, करनाल : राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान के छात्रों, अनुदेशकों और प्रिसिपल पर लाठीचार्ज करने के विरोध में सोमवार को अनुदेशकों व स्टाफ सदस्यों ने गेट मीटिग की। अनुदेशकों ने एलान किया कि जब तक दोषियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की जाती वह काले बिल्ले लगाकर काम करेंगे। छात्रों और अनुदेशकों के साथ अन्याय सहन नहीं किया जाएगा।

अनुदेशकों ने कहा कि पुलिस ने आइटीआइ कैंपस में घुसकर छात्र-छात्राओं, अनुदेशकों व प्रिसिपल पर डंडे बरसाए। पुलिसकर्मियों ने जमकर मारपीट की और बाद में छात्रों को ही दोषी ठहराया गया। अनुदेशकों ने कहा कि इस घटना में दोषी पुलिस कर्मचारियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाए। शिक्षण संस्थान में इस तरह घुसकर हमला करना कानून का उल्लंघन है। उन्होंने कहा कि अनुदेशकों और छात्रों का मान सम्मान तभी बहाल होगा। जब दोषी पुलिस कर्मचारियों को सजा मिलेगी। गेट मीटिग में करनाल आइटीआइ के अनुदेशक व स्टाफ सदस्य मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस