जागरण संवाददाता करनाल

शहर के अति व्यस्त चौक में शामिल आइटीआइ चौक पर भाईदूज के मौके पर ऐसा जाम लगा कि लोगों को निकलने में घंटे से भी ज्यादा का समय लगा। धूल, धुएं और हॉर्न की आवाज से वहां खड़ा होना भी मुश्किल हो रहा था। एक बार तो नौबत यह आ गई कि वाहनों को व्यवस्थित करने के लिए ट्रैफिक लाइट तक बंद करनी पड़ी। इसके बाद भी स्थिति में सुधार नहीं हुआ। दुकानदारों ने बताया कि इस तरह के जाम यहां लगातार लग रहे हैं, लेकिन आज हालात कुछ ज्यादा ही खराब हो रहे हैं। उन्होंने बताया कि भाईदूज होने की वजह से वाहन सड़कों पर कुछ ज्यादा ही आ गए हैं। इस वजह से स्थिति ज्यादा खराब हो रही है। और जब आपा खो बैठा हवलदार

वाहन चालक किसी भी तरह से यहां से निकलना चाह रहे थे। इस दौरान कई वाहन इधर-उधर से आ गए। पहले तो यातायात कर्मचारी गुरु उपकार ने वाहनों को कंट्रोल करने की कोशिश की, लेकिन जब उनकी कोशिश लगातार बेकार गई तो एक वक्त ऐसा भी आया कि वे अपना आप खो बैठे। अकेला होने की वजह से कोई भी वाहन चालक उनकी बात सुनने को तैयार नहीं था। इधर जाम लंबा होता जा रहा था। सूझबूझ से किया कंट्रोल

बिगड़ी स्थिति को काबू में करने के लिए यातायात कर्मी ने बहुत ही सूझबूझ से काम लिया। यही वजह रही कि लंबा जाम होने के बाद भी स्थिति कंट्रोल में बनी रही, क्योंकि यहां थोड़ी सी लापरवाही या जल्दबाजी से हालात बेकाबू हो सकते थे। रोड इंजीनियर में खराबी है, इसलिए लगता है जाम

इधर रोड सेफ्टी विशेषज्ञ नवदीप असीजा ने बताया कि यहां की रोड इंजीनियर में ही खराबी है। इस वजह से जाम लगते हैं। लाइट सही से काम नहीं करती। यह स्थिति यहां कभी भी बड़े हादसे की वजह बन सकती है। उन्होंने बताया कि सड़क पर ही एक ओर दुकान है, दूसरी ओर आईटीआई जाने वाला रास्ता, इधर बसंत विहार की ओर भी एक रास्ता निकलता है, यह रांग साइड से वाहन चालकों को गुजरना पड़ता है। दुकानदार अशोक, विकास और संदीप ने बताया कि इस समस्या का स्थायी हल होना चाहिए।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस