जागरण संवाददाता, करनाल: आखिरकार कोरोना काल में बंद रहे कार्यों को अब नए सिरे से गति मिलने लगी है। इसके तहत करनाल-मेरठ रोड के बहुप्रतीक्षित चौड़ीकरण के लिए पिछले तीन माह से काम चल रहा है। करीब साढे 14 किलोमीटर लंबी यह सड़क मेरठ रोड चौक से शुगर मिल तक छह लेन और इससे आगे यमुना पुल तक चार लेन की बनेगी। डीसी निशांत यादव ने लोक निर्माण विभाग (सड़कें) डिविजन-1 के कार्यकारी अभियंता दलेल सिंह के साथ निर्माणाधीन सड़क की वाइडनिग का निरीक्षण किया। इस पर अनुमानित 105 करोड़ रुपये की लागत आएगी। सड़क चौड़ी करने का काम भी शुरू

निरीक्षण के दौरान डीसी ने बताया कि पिछले तीन महीनों से इस प्रोजेक्ट पर काम चल रहा है, जिसमें पहले कल्वर्ट बनाए जाएंगे। तीन पुल भी बनेंगे, जो आवर्धन नहर, सोलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट के पास तथा एक अन्य जगह तैयार किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि दूसरी ओर इस सड़क को चौड़ी करने के लिए बुधवार से ही खुदाई का कार्य शुरू हो गया है। साढे़ 7 मीटर से बढ़ाकर साढे़ 12 मीटर चौड़ाई होगी

डीसी ने बताया कि करनाल से उत्तर प्रदेश को जोड़ने वाली महत्वांकाक्षी और बहुपयोगी सड़क को चौड़ा कर इसे यातायात के अनुकूल बनाया जाएगा। इसके लिए सड़क के दोनों ओर मौजूदा साढे़ 7 मीटर से बढ़ाकर साढे़ 12 मीटर चौड़ाई की जाएगी और यह 6 और 4 लेनिग में तैयार होगी। इस पर दोनों ओर के वाहनों को आने-जाने में सुविधा रहेगी। मौजूदा सड़क स्ट्रक्चर की मीलिग कर इस पर कारपेटिग से मजबूत व सुंदर बनाया जाएगा।

Edited By: Jagran