जागरण संवाददाता, करनाल : नियम 134-ए के तहत शुक्रवार को दूसरा ड्रा नहीं निकलने के कारण अभिभावकों को बीईओ कार्यालय से फिर निराश हो बैरंग लौटना पड़ा है। अभिभावकों का आरोप है कि दो माह से बच्चों की पढ़ाई नहीं हो रही है और शिक्षा अधिकारी गंभीर नहीं हैं। 5 और 6 जून को स्कूल अपडेट करने के बाद दूसरा ड्रा जारी होने सूचना दी जा रही थी। सुबह 9 से शाम पांच बजे तक बच्चों के साथ अभिभावक शिक्षा अधिकारी के कार्यालय में ड्रा के बारे में जानकारी जुटाने के लिए पहुंचते रहे। शाम तक ड्रा अलॉट न होने के कारण अभिभावकों को बैरंग लौटना पड़ा।

दो माह से भटका रहा विभाग

बसंत विहार के रमेश कुमार ने बताया कि बच्चों के दाखिले के लिए दो माह से शिक्षा विभाग भटका रहा है। सरकार की ओर से गरीब बच्चों का भविष्य संवारने के लिए योजना बनाई गई थी, लेकिन बच्चे स्कूल नहीं जा पा रहे हैं। 134-ए के तहत दाखिला मिल नहीं रहा और अन्य स्कूल में वो बच्चों को दाखिला नहीं दिला पा रहे हैं। पांच स्कूल भरने के बाद 15 स्कूलों का विकल्प रखा गया था, जबकि विभाग की वेबसाइट ही सही से काम नहीं कर रही थी।

1749 बच्चे अभी वेटिग में

करनाल में क्वालीफाई 3224 बच्चों में से 1475 का बुधवार को स्कूल अलॉट कर दिया गया है, जबकि 1749 बच्चे दूसरे ड्रा में इंतजार में हैं। इसके अलावा, करनाल खंड में 3727 बच्चों की अलॉटमेंट, जबकि 3021 बच्चे वेटिग में हैं। कक्षा दो से 12वीं में दाखिले के लिए करनाल के सभी खंडों में 6748 बच्चों ने 134-ए के तहत परीक्षा में क्वालीफाई किया था। 14 अप्रैल को परीक्षा के बाद 18 अप्रैल को जारी हुए रिजल्ट में 3224 बच्चों ने परीक्षा क्वालीफाई किया। करनाल खंड में 113 स्कूलों में बच्चों ने 134-ए के तहत दाखिला प्राप्त करना है।

कटआउट फोटो

134ए के तहत सभी बच्चों को होगा दाखिला : राजपाल चौधरी

डीईईओ राजपाल चौधरी ने कहा कि अभिभावकों को परेशान होने की जरूरत नहीं है। विभाग ने पारदर्शी तरीके से बच्चों को दाखिले के लिए ऑनलाइन पोर्टल चालू किया है। शिक्षा विभाग की ओर से ड्रा में नाम आने वाले बच्चे को दाखिला जरूर दिलवाया जाएगा। शुक्रवार रात तक ड्रा अलाट होने की सूचना है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस