जागरण संवाददाता करनाल : सैनी कॉलोनी में एक बजे जोरदार विस्फोट के साथ कई घरों की खिड़कियों के शीशे टूट गए। धमाका इतना जोरदार था कि इसका असर पांच सौ मीटर तक हुआ। एक बार तो लोगों ने यही समझा कि बम फट गया है। आवाज सुनते ही हर कोई घरों से बाहर निकल आया। बाद में मौके पर पुलिस की टीम पहुंची। विस्फोटक की जांच के लिए एफएसएल की टीम को भी बुला लिया गया है। शाम तक इसके कारणों का पता नहीं चल पाया। गनीमत रही कि हादसे में कोई घायल नहीं हुआ। रसोई घटना स्थल से कुछ ही दूरी पर थी, पर क्योंकि आग नहीं लगी, इस वजह से बहुत बड़ा हादसा टल गया। घटना स्थल पर भारी धुआं फैल गया। यह नीले रंग का धुआं था, इसे देख कर लोग दूर ही ठिठक गए। परिवार के लोग भी डर के मारे कमरे में दुबके रहे। वह तब निकले जब पुरुष सदस्य घर पर आए।

हमें तो पता ही नहीं चला हुआ क्या : परिवार

सैनी कालोनी में मंगलवार को सब कुछ सामान्य था। गर्मी होने की वजह से ज्यादातर लोग घरों में घुसे हुए थे। तभी एक बजे बलजीत सिंह मकान नंबर 269 में जोरदार विस्फोट हुआ। बताया जा रहा है कि घर में कुछ कबाड़ था, इसी में धमका हुआ। घटना के वक्त बलजीत सिंह की पत्नी रजविद्र कौर अपने ढाई साल के बेटे सुकमन के साथ कमरे में थी। बलजीत सिंह और उसकी माता मंजीत कौर दोनों अस्पताल में रिश्तेदार का हाल जानने गए थे। बलजीत सिंह की बेटी हरमिलाप कौर स्कूल गई हुई थी। रजविद्र कौर ने बताया कि उन्हें पता ही नहीं चला कि हुआ क्या?

और देर तक टूटता रहा कांच

रजविद्र कौर ने बताया कि उसे लगा कि बाहर बम फट गया। घर का कांच टूटना शुरू हो गया। उसने बताया कि यही समझा कि गाड़ी में आग लग गई। पड़ोसी मौके पर आ गए, लेकिन कोई अंदर नहीं आ पा रहा था। किसी ने उसके पति बलजीत को फोन कर जानकारी दी। वह तुरंत मौके पर आया। इसके बाद ही वह पति के साथ बाहर आई, देखा तो पाया कि घर का कांच टूट रहा है। घर के सामने की दीवार टूट गयी। बाकी की दीवारों में दरार आ गई।

वॉशिग मशीन बता रही है जोरदार रहा विस्फोट

जहां विस्फोट हुआ, इसके पास ही वॉशिग मशीन थी। इसके परखच्चे उड़ गए। यदि उस वक्त कोई आस पास होता तो उसके साथ खतरनाक हादसा हो सकता था। आवाज के बाद इतनी जोरदार कंपन हुई कि गली में खड़ी एक गाड़ी के शीशे टूट गए।

एक बार तो लगा कि अब नहीं बचेंगे

पड़ोसी रोमा शर्मा ने बताया कि वह उस वक्त घर में रसोई में काम कर रही थी। आवाज सुन कर वह बाहर निकली, तभी उसके घर के शीशे टूट कर कांच नीचे बिखर गया। हालात यह थी कि बाथरूम का शीशा भी टूट गया। एक दीवार में दरार आ गई। इसके साथ ही आस पास के चार पांच घरों में भी यहीं हालात थे। एक चश्मदीद पार्वती ने बताया कि अचानक ही आवाज के साथ घर में धुआं घुस गया। वह उस वक्त सिलाई कर रही थी, पास ही तीन साल की उसकी पोती रूहानी खेल रही थी। डर कर वह नीचे गिर, उन्हें भी समझ में नहीं आया क्या हुआ। बस वह अपनी पोती को उठा घर में दुबक गई। एक अन्य पड़ोसी परमजीत कौर ने बताया कि वह उस वक्त टीवी देख रही थी, उसका घर घटना स्थल से पांच सौ मीटर दूर है। उन्होंने बताया कि जैसे ही वह बाहर आयी तो देखा कि आसमान की ओर नीला धुआं बढ़ रहा है। वह समझ नहीं पाए हुआ क्या है? इसी तरह से एक अन्य चश्मदीद प्रमजीत सिंह ने बताया कि वह उस वक्त सो रहे थे, धमाकों के साथ ही उनकी नींद खुली।

पुलिस नहीं समझ पाई हादसे की वजह

घटना की जांच कर रहे माडल टाउन चौकी इंचार्ज एएसआइ सतपाल ने बताया कि अभी कारणों का पता नहीं चल पाया है। एफएसएल की टीम ने कुछ सामान उठाया है। इसकी जांच के बाद ही पता चलेगा कि वजह क्या है? उन्होंने बताया कि इसके बाद ही आगे की जांच की जाएगी। इधर बलजीत ने बताया कि उन्हें नहीं पता कि यह कैसे हो गया?

शहर के पॉश एरिया है सैनी कॉलोनी

शहर के बीच में माडल टाउन का हिस्सा सैनी कॉलोनी पॉश एरिया में से एक है। इस प्रकार की घटना के बाद लोग अपने आपको असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। पॉश एरिया में हुई इस घटना के बाद अभी तक स्पष्ट नहीं हो पाया कि यह धमाका किस चीज का था, लोग डरे और सहमे हुए हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप