जागरण संवाददाता, करनाल : स्मार्ट शहर व ग्रामीण क्षेत्रों में विकास को लेकर करोड़ों खर्च किए जा रहे है, लेकिन कई क्षेत्र आज भी आधारभूत सुविधाओं के लिए तरस रहे हैं। ऐसे ही हालात सेक्टर 20 में आने वाले गांव धौलगढ़ का है। गांव में सीवेरज व्यवस्था एक साल में भी पूरी नहीं हो सकी है। अनदेखी के चलते गलियों व सड़कों में गड्ढे पड़े हैं, जिसका खामियाजा ग्रामीणों को भुगतना पड़ रहा है।

गांव में चारों तरफ गंदगी का आलम है। बारिश के समय में तो ओर भी बुरा हाल हो जाता है। कई-कई दिन तक बारिश का पानी गलियों में भरा रहता है। बारिश का पानी भरने के बाद तो हालात इतने खराब हो जाते है कि पानी से बदबू आने लगती है। पिछले दिनों हुई बारिश गांव का तालाब ओवरफ्लो हो गया। बारिश का पानी गलियों व सड़कों में भरा हुआ है जिससे लोगों का आना-जाना मुश्किल हो गया है।

गुरुवार को गांव की समस्याओं को हल करने लेकर ग्रामीणों ने नगर निगम प्रशासन व उपायुक्त के समक्ष ज्ञापन सौंपकर गुहार लगाई है। उपायुक्त ने गांव धौलगढ़ के लोगों को आश्वासन दिलाया है कि उनकी समस्या को हल किया जाएगा और सीवरेज टेंडर को भी जल्द पूरा किया जाएगा। उपायुक्त से मिलने पहुंचे लोगों में लखी राम ,दलेल कश्यप, गुलाब, नसीब सिंह, संजू, इंद्र, जय सिंह, सिमरु, महिपाल, विक्रम सहित दर्जन भर शामिल रहे। बॉक्स

तालाब ओवरफ्लो हो जाने से गलियों में भरा पानी

गांव के नंबरदार रोशन लाल का कहना है कि गांव में पानी की निकासी नहीं हो रही है। लगातार तालाब ओवरफ्लो हो रहा है। इसके कारण गलियों व सड़कों में पानी भरा रहता है। इस समस्या को लेकर नगर निगम व आला अधिकारियों को अवगत करवाया जा चुका है, लेकिन कोई भी सुध लेने वाला नहीं है जिसका खामियाजा ग्रामीण भुगत रहे है। गांव में फैल गंदगी, ग्रामीण परेशान

गांव की समस्या को उठाते हुए ग्रामीण रामप्रसाद का कहना है कि एक तरफ कोरोना वायरस के चलते जहां सरकार व प्रशासन अपने आस-पास के क्षेत्र को साफ-सुथरा रखने व बीमारियों से बचने के लिए गंदगी ना फैलाने का हिदायतें देते है वहीं गांव धौलगढ़ में समस्याओं के अंबार लगे है। कहीं गलियों में पानी भरा है, तो कहीं गंदगी फैली है। ऐसे में गांव में बीमारी फैलने का खतरा मंडरा रहा है। गंदे पानी से होकर स्कूल जाते है बच्चे

ग्रामीण देवीचंद का कहना है कि बारिश के चलते सड़कें पानी से जलमग्न हो जाती है। पीडब्लूडी वाली सड़क के पिछले कई दिनों से बारिश का पानी भरा हुआ है। इससे बहुत बदबू आती है। वहीं थोड़ी दूर स्कूल भी है। स्कूल के बच्चों को बारिश के गंदे पानी से होकर गुजरना पड़ता है। कई बार तो स्कूल के बच्चे पानी में भी गिर जाते हैं। इस समस्या को लेकर नगर निगम बिल्कुल भी गंभीर नहीं है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस