जागरण संवाददाता, करनाल: बिजली विभाग से हटाए गए स्किल्ड एवं अनस्किल्ड कर्मचारियों ने एक बार फिर से सरकार के खिलाफ बिगुल फूंकने का निर्णय लिया है। कर्मचारियों ने 48 घंटे के अंदर स्वीकृति नहीं मिलने पर सरकार के खिलाफ हड़ताल करेंगे और सड़कों पर उतरकर रोष व्यक्त करेंगे। बुधवार को कर्ण पार्क में आयोजित बैठक में बिजली विभाग के कर्मचारियों ने यह निर्णय लिया। बैठक में पांच जिलों के प्रतिनिधि पहुंचे।

मीटिग की अध्यक्षता करते हुए करनाल प्रधान सचिन गुर्जर ने कहा कि सभी कर्मचारी तीन वर्षों से बिजली विभाग में मेहनत व ईमानदारी से कार्य कर रहे थे। जिन्हें बिना किसी नोटिस के पांच महीने पहले हटा दिया गया था। दिसंबर माह में सभी कर्मचारियों ने धरना दिया था। परंतु प्रदेश महासचिव नरेश बालु, प्रदेशाध्यक्ष दिनेश वशिष्ठ, प्रदेश संगठनकर्ता हनुमान गोदारा व मुकेश संदोल ने कर्मचारियों को विश्वास दिलाया था कि सरकार जल्द ही स्वीकृति देकर विभाग में स्थान देगी। लेकिन आज तक कुछ नहीं हुआ। इस अवसर पर कैथल प्रधान रमन, कुरुक्षेत्र प्रधान शुभम, यमुनानगर प्रधान सुमित, अंबाला प्रधान राजकुमार प्रधान, राजू, कृष्ण, मुलतान, सत्यवान, लाभ सिंह, विनित, रामकुमार, सुशील, नरेश, दिनेश, अरविद सिंह, विरेंद्र कुमार, लिपि सिंह, दीपक, सुनील, रविद्र, हथलाना, सुमित, अरविद व अशोक मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप