संवाद सूत्र, जुलाना : गांव मालवी में डा. आंबेडकर शिक्षा एवं कल्याण समिति द्वारा निश्शुल्क स्वास्थ्य जांच कैंप लगाया गया। इसमें बतौर मुख्य अतिथि भारत की पहली महिला डब्लूडब्लूई रेसलर कविता दलाल ने मुख्यातिथि के रूप में शिरकत की। कार्यक्रम में आरोग्यम अस्पताल के चिकित्सकों ने ग्रामीणों के स्वास्थ्य की जांच की।

डा. हर्षिता ने कहा कि गांव में महिलाएं स्वास्थ्य के प्रति जागरूक नहीं हैं। महिलाओं खून और बीपी की ज्यादा बीमारियां मिली। डा हर्षिता ने कहा कि अगर बीमारी का समय रहते इलाज हो जाए तो बीमारी ज्यादा नही बढ़ती और ईलाज भी सस्ता हो जाता है। कार्यक्रम में महिला रेसलर कविता दलाल ने कहा कि ग्रामीणों की स्वास्थ्य की समय समय पर जांच होनी चाहिए। जांच के बाद अगर कोई बीमारी मिल जाती है तो समय पर संभाल हो जाती है। अन्य संगठनों को भी इस तरह के कायरे में बढ़-चढ़कर भाग लेने के लिए आगे आना चाहिए। इस मौके पर 180 ग्रामीणों के स्वास्थ्य की जांच की गई और उन्हें दवा भी वितरित की गई।

इस मौके पर संस्था के अध्यक्ष अजीत ग्रोवर मालवी, कोषाध्यक्ष मनीष, रिकू, धर्मेंद्र पहलवान, अजय, कपिल, कुलबीर, डा. जयकिशन ग्रोवर, संजय दलाल, साधुराम, टेकाराम पूजा जांगड़ा मौजूद रहे। स्वास्थ्य विभाग की 32 टीम घर-घर पहुंचकर लोगों को कर रही जागरूक

संवाद सहयोगी, अलेवा: नगूरां पीएचसी के अधीन विभिन्न गांवों में एनडीडी कार्यक्रम के दूसरे दिन स्वास्थ्य विभाग की टीम ने घर-घर पहुंचकर बच्चों को एल्बेंडाजोल की गोलियां खिलाई। पीएचसी के अधीन बच्चों को एल्बेंडाजोल की गोलियां खिलाने की जिम्मेदारी आशा वर्कर, एएनएम और आंगनबाड़ी वर्कर्स समेत 32 टीमों को दी गई है। कार्यक्रम की अध्यक्षता स्वास्थ्य निरीक्षक नरेंद्र ढांडा ने की तथा निरीक्षण मेडिकल आफिसर डा. दीक्षा यादव ने किया। डा. दीक्षा यादव ने कहा कि 26 मई तक घर-घर जाकर बच्चों को एल्बेंडाजोल की गोलियां खिलाई जाएंगी। बाकी बचे बच्चों को 27 से 29 मई तक एल्बेंडाजोल की गोलियां खिलाई जाएंगी। इस दौरान उन महिलाओं को भी एल्बेंडाजोल खिलाई जाएंगी जो 20 से 24 साल तक की उम्र की हैं और जो गर्भवती नहीं हैं तथा बच्चों को दूध नहीं पिला रही हैं।

Edited By: Jagran