फोटो---20 नंबर है। जागरण संवाददाता, करनाल

हरियाणा शारीरिक शिक्षा अध्यापक संघर्ष समिति ने प्रदेशभर में सांसदों को ज्ञापन सौंपने के बाद अब हरियाणा के सभी 90 विधायकों को ज्ञापन देने की रणनीति तय की है। 13 और 14 जुलाई को विधायकों को मांग पत्र सौंप कर नौकरी बहाली की मांग की जाएगी। रविवार को समिति ने मीटिग कर इस बाबत निर्णय लिया। सोमवार को सत्ता पक्ष तथा मंगलवार को विपक्षी दलों के विधायकों को ज्ञापन दिए जाएंगे। करनाल जिला के पांच विधायकों को ज्ञापन सौंपे जाएंगे। 13 जुलाई को करनाल, घरौंडा, इंद्री व नीलोखेड़ी विधायक को ज्ञापन सौंपने का निर्णय लिया गया है। ज्ञापन सौंपने के कार्यक्रम में समस्त कर्मचारी संघर्ष तालमेल कमेटी के सदस्य शामिल रहेंगे। इधर रविवार को क्रमिक अनशन पर बैठने वाले शिक्षकों में सुखविद्र विर्क, रिषीपाल मान, राजकुमार, भुवन कुमार व अजमेर शामिल रहे। इस मौके पर हरियाणा शारीरिक शिक्षा अध्यापक संघर्ष समिति के जिला प्रधान संदीप बलड़ी, पूर्व राज्य महासचिव रविद्र बरानी व सुशील हथलाना ने कहा कि सांसदों को ज्ञापन देने का कोई सकारात्मक नतीजा नहीं निकला। सरकार पीटीआई शिक्षकों की आवाज नहीं सुन रहीं। 28 दिन के धरने के बावजूद सरकार के कानों पर जूं तक नहीं रेंगी। अब विधायकों को ज्ञापन सौंप कर नौकरी बहाल करने की गुहार लगाई जाएगी। प्रदेश में 1983 पीटीआई शिक्षकों को सेवा मुक्त किया गया है। नौकरी जाने से शिक्षक सदमें में हैं। सरकार जल्द से जल्द नौकरी बहाल कर 1983 परिवारों को राहत दे। इस अवसर पर अनिल, राजेश व महावीर राणा ने भी शिक्षकों को संबोधित किया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस