जागरण संवाददाता, करनाल : अतिथि अध्यापकों ने सेक्टर-12 से सीएम कैंप कार्यालय तक जोरदार विरोध प्रदर्शन करते हुए सरकार को चेताया कि अगर सरकार ने झूठ बोलना बंद नहीं किया और स्वीकार की गई मांगों को लागू नहीं किया तो गेस्ट टीचर उग्र प्रदर्शन भी कर सकते हैं। कैंप कार्यालय का घेराव करने पहुंचे अतिथि अध्यापकों ने बेरीकेड तोड़ने का प्रयास किया। पुलिस बार-बार उन्हें रोकती रही मगर गेस्ट टीचर का गुस्सा उफान पर था। गुस्साई महिला अध्यापकों ने अपनी चूड़ियां तोड़कर फेंक दी। सरकार को शर्मसार करने के लिए महिलाओं को यह कदम उठाना पड़ा। दोपहर से शाम तक गेस्ट टीचर यहां डटे रहे। बाद में अधिकारियों की ओर से आश्वासन दिया गया कि गेस्ट टीचर के प्रतिनिधिमंडल की प्रधान सचिव से मुलाकात का समय कल तय करवाया जाएगा। इसके बाद अध्यापक वापस धरना स्थल पर लौट गए। इधर आमरण अनशन पर बैठे अध्यापक राजकुमार की तबियत लगातार बिगड़ती जा रही है। यहां उल्लेखनीय है कि सोमवार को अतिथि अध्यापकों के प्रतिनिधिमंडल को चंडीगढ़ में प्रधान सचिव से वार्ता के लिए बुलाया गया था। समयानुसार वार्ता शुरू हुई मगर कोई सहमति नहीं बनी। इसके बाद दोबारा बातचीत करने के लिए अध्यापकों का प्रतिनिधिमंडल चंडीगढ़ में डटा है। मगर अधिकारी ने दोबारा वार्ता नहीं की। इससे गुस्साए प्रदेश के गेस्ट टीचर ने आज सीएम सिटी में प्रदर्शन कर हंगामा किया। इस अवसर पर नवनीत कौर, रिपल, कुलविदर, प्रीति, दयाल चंद्रहास, पीटर चहल, बलवान, मेहरलाल, सीमा, संतोष, रीटा पुनिया, नीरज, रूबी, चंद्रावती, रघु वत्स, कुलदीप, मंजीत, पुष्पा सहित सैकड़ों अतिथि अध्यापक मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप