संवाद सहयोगी, घरौंडा : सरकार की घोषणा के चार दिन बाद एसडीएम एवं मंडी प्रशासक पूजा भारती अनाज मंडी में पीआर धान की खरीद शुरू करवाने पहुंचीं। एसडीएम के समक्ष आढ़तियों ने अपनी शर्तो को रखते हुए धान की प्रक्रिया में शामिल होने के भरोसा दिलाया। आढ़तियों की तरफ से गेहूं सीजन की डीएफएसई की तरफ बकाया करीब तीस लाख कमीशन का जल्द भुगतान किये जाने की मांग रखी।मंडी एसोसिएशन ने स्पष्ट किया कि यदि चौबीस घंटे के अंदर धान की लिफ्टिग नहीं हुई तो वे खरीद बंद कर देंगे। अनाज मंडी में बीते कई दिनों से धान की खरीद को लेकर जारी आढ़तियों और किसानों का विरोध अस्थाई रूप से थम गया है। वीरवार को दोपहर करीब सवा दो बजे उपमंडल अधिकारी एवं मंडी प्रशासक पूजा भारती, मार्केट कमेटी सचिव चंद्र प्रकाश, मंडी एसोसिएशन के अध्यक्ष रामलाल गोयल, फूड एंड सप्लाई इंस्पेक्टर राजेन्द्र कुमार, हेफेड अधिकारी ईश्वर सिंह, वेयर हाउस प्रबन्धक रमेश शर्मा व सहायक सचिव अशोक कुमार अनाज मंडी में पड़ी पीआर धान की ढेरियों पर पहुंचें। एसडीएम ने विधिवत तरीके से धान की सरकारी खरीद शुरू करवाई। पूजा भारती ने खरीद एजेंसियों के अधिकारियों को निर्देश दिए कि सरकार द्वारा निर्धारित किये मापदंड़ो के अनुसार धान की खरीद की जाए। आढ़तियों ने रखी अपनी मांगें और शर्ते

खरीद शुरू होने से पूर्व मंडी प्रधान रामलाल गोयल की दुकान पर एसडीएम और आढ़तियों के बीच हुई मीटिग में आढ़तियों ने बकाया पेमेंट के भुगतान की मांग रखी। आढ़ती सुरेश मित्तल ने कहा कि बीते गेहूं के सीजन की कमीशन व लेबर अभी तक कुछ आढ़तियों को नहीं मिली है। डीएफएसई की तरफ घरौंडा मंडी के लगभग 25 से 30 आढ़तियों की तीस लाख की कमीशन बकाया है। मंडी प्रधान रामलाल ने कहा कि चौबीस घंटे में एजेंसियों द्वारा खरीदी गई धान की लिफ्टिग होने की शर्त पर खरीद शुरू की गई है। यदि मंडी से खरीदी गई धान का उठान समय पर नहीं हुआ तो आढ़ती खरीद बंद कर देंगे। मंडी में नहीं पहुंचा बारदाना, आढ़तियों ने किया हंगामा

अनाज मंडी पहुंची एसडीएम ने तीन ढेरियों का निरीक्षण करने के उपरांत खरीद शुरू करने का ऐलान कर दिया। एसडीएम के जाते ही धान में नमी की मात्रा को लेकर खरीद एजेंसियों के अधिकारियों और आढ़तियों के बीच नोंकझोंक शुरू हो गई। हेफेड इंस्पेक्टर ईश्वर सिंह ने नमी अधिक बताते हुए कई ढेरियां रिजेक्ट कर दी जिसके बाद आढ़तियों ने हंगामा कर दिया। आढ़तियों ने कहा कि प्रशासन मंडियों में खरीद शुरू होने का ड्रामा कर रहा है जबकि फिलहाल तक बारदाना भी एजेंसियों ने नहीं दिया है। मंडी में पीआर धान की खरीद शुरू कर दी गई है। सभी एजेंसियों को निर्धारित मापदंड़ों के अनुसार धान परचेज करने के निर्देश दिए गए हैं। आढ़तियों की तरफ से बकाया पेमेंट के भुगतान की मांग रखी गई है। उन्हें लिखित में अपनी डिमांड देने को कहा गया है। -पूजा भारती, एसडीएम एवं मंडी प्रशासक

Edited By: Jagran